उन्नाव और कठुआ गैंगरेप केस के बाद इस राज्य से आई अच्छी खबर, बताया अपराध हुए कम - .

Breaking

Sunday, 15 April 2018

उन्नाव और कठुआ गैंगरेप केस के बाद इस राज्य से आई अच्छी खबर, बताया अपराध हुए कम

उन्नाव और कठुआ गैंगरेप केस के बाद इस राज्य से आई अच्छी खबर, बताया अपराध हुए कम


भारत में रेप के मामले दिनों-दिन बढ़ते जा रहे हैं. यूपी (उन्नाव गैंगरेप केस) और जम्मू-कश्मीर (कठुआ गैंगरेप केस) में हाल ही हुए दुष्कर्म की खबरें हर तरह चर्चा में हैं इसी बीच राजस्थान से एक अच्छी खबर आई है. राजस्थान के गृहमंत्री गुलाब चन्द कटारिया ने बताया कि प्रदेश में वर्ष 2017 की तुलना में वर्ष मार्च 2018 तक आईपीसी के अपराधों में .93 फीसदी एवं महिलाओं के प्रति अपराधों में 12 फीसदी की कमी आई है.

गृहमंत्री ने बताया कि प्रदेश के इस वर्ष के बजट में 8 हजार 412 पुलिस कांस्टेबलों पदों पर भर्ती, 13 नये वृत, 28 थाने, 26 नयी चौकियां स्थापित करने एवं पुलिस वाहनों के लिए 35 करोड़ रुपये की राशि की घोषणा की गई है. इस के साथ ही मैस भत्ते में वृद्धि एवं होमगार्ड कर्मियों के मानदेय में लगभग दुगनी वृद्धि की गई है. राज्य में स्थापित अभय कमांड सेंटर में कुल 942 पदों का प्रावधान रखा गया है. कांस्टेबल से लेकर पुलिस निरीक्षक पद तक एक समान रूप से 2 हजार रुपये मासिक मैस भत्ता लगाया गया है. उन्होंने 404 स्वीकृत पदों के साथ मुख्यालयों पर महिला पेट्रोलिंग यूनिट की स्थापना की घोषणा के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया.


गृहमंत्री ने बताया कि राजस्थान पुलिस अकादमी में साइबर क्राइम रोकने के लिए अलग से प्रयोगशाला स्थापित करने के साथ ही महिलाओं व बच्चों के विरुद्व होने वाले अपराधों की रोकथाम के लिए प्रशिक्षण केन्द्र भी खोला जाएगा. अपराध समीक्षा के दौरान कटारिया ने अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के प्रति अत्याचारों की रोकथाम के प्रति विशेष गम्भीरता बरतने के निर्देश दिए. उन्होंने पुलिस अधिकारियों को अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के प्रति अत्याचारों की रोकथाम के लिए प्रभावी कार्ययोजना बनाने का निर्देश दिया.

No comments:

Post a Comment

Pages