दांतों के दर्द को खत्म करने के 5 आसान घरेलू तरीके - .

Breaking

Saturday, 14 April 2018

दांतों के दर्द को खत्म करने के 5 आसान घरेलू तरीके

दांतों के दर्द को खत्म करने के 5 आसान घरेलू तरीके


दांतों का दर्द बहुत परेशान करता है. इसमें ना आप खा सकते हैं और चेहरे पर सूजन आती है वो अलग. एक दांत का दर्द भी काफी परेशानी बड़ा देता है. बाकि शरीर के किसी भी अंग के दर्द को आप एंटीसेप्टिक क्रीम, दवाइयों या फिर स्प्रे आदि से ठीक कर सकते हैं, लेकिन दांत के दर्द का इलाज थोड़ा मुश्किल हो जाता है. किसी को अपने दांतों के दर्द के बारे में बताया जाए तो नमक के पानी के गरारे और लौंग की सलाह देते हैं, लेकिन यहां जानिए ऐसे और 5 आसान घरेलू तरीके, जिन्हें अपनाकर दांत के दर्द को दूर किया जा सकता है. 
1. अमरूद के पत्ते
इसके लिए आपको अमरूद के फ्रेश पत्ते यानी हल्के हरे रंग के छोटे पत्ते चाहिए होंगे. इन फ्रेश पत्तों को धोकर आप दर्द वाले दांत के पास चबा सकते हैं या फिर इन्हें उबाल कर इसके पानी से कुल्ला करें. इस तरीके को अपनाने के बाद आपको जल्दी आराम पड़ेगा. 
2. प्याज का टुकड़ा
इसमें मौजूद एंटीसेप्टिक प्रोपर्टिज़ दर्द को कम करने की क्षमता रखती हैं. इसके लिए आप प्याज का एक छोटा टुलड़ा लें, इसे दर्द वाले दांत पर कुछ देर रखें और हल्का-हल्का चबाएं. अगर आप टुकड़ा मुंह में नहीं रखना चाहते तो प्याज के रस को कॉटन की मदद से दांत पर लगाएं. 
3. लहसुन की कली
प्याज की ही तरह लहसुन भी दर्द कम करने के काम आता है. इसकी एक कली को दर्द वाले दांत पर रखें और हल्के-हल्के चबाते रहें. 10 से 15 मिनट में आपको दर्द में आराम महसूस होने लगेगा. 
4. नमक और काली मिर्च
देखकर डरे नहीं, इसके इस्तेमाल से आपको थोड़ी मिर्च जरूर लगे लेकिन आराम पक्का मिलेगा. इसके लिए थोड़ा नमक और उससे आधी मात्रा में काली मिर्च का पाउडर में हल्का पानी डालकर मिक्स करें. अब इस पेस्ट को दर्द वाले दांत पर लगाएं. यह उपाय उनके लिए बेस्ट है जिनके दांत में कीड़ा लगा हो. 
5. गेंहू का पौधा
यह आपको आसानी से ना मिले, लेकिन बाजारों में मिल सकता है. इसके लिए गेंहू के छोटे पौधे या घास को मुंह में डालकर चबाएं. या फिर इसे अच्छे से उबालें और इसके पानी से कुल्ला करें. ऐसा आप हफ्ते में 2 से 4 बार करें.

अगर दर्द ज्यादा हो तो डेंटिस्ट को जरूर दिखाएं और उनसे दवाइयों के साथ-साथ क्या खाएं और क्या नहीं, इसके बारे में भी पूछें. 

No comments:

Post a Comment

Pages