इराक में 39 भारतीयों की मौत पर सुषमा स्वराज ने कांग्रेस से पूछा, क्या मौत पर भी राजनीति करेंगे? - .

Breaking

Tuesday, 20 March 2018

इराक में 39 भारतीयों की मौत पर सुषमा स्वराज ने कांग्रेस से पूछा, क्या मौत पर भी राजनीति करेंगे?

इराक में 39 भारतीयों की मौत पर सुषमा स्वराज ने कांग्रेस से पूछा, क्या मौत पर भी राजनीति करेंगे?


इराक के मोसुल से अगवा हुए 39 भारतीय नागरिकों की मौत की जानकारी संसद में देने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इराक में बंधक बनाये गए 39 भारतीयों की मौत की जानकारी देने के दौरान लोकसभा में कार्यवाही बाधित करने को लेकर कांग्रेस पर तीखा प्रहार करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि कांग्रेस ने मौत पर ओछी राजनीति की सारी हदें पार कर दी, भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं कांग्रेस पार्टी से सवाल पूछना चाहती हूं कि लोकसभा कार्यवाही को उस समय बाधित क्यों किया गया, जब मुझे इराक में मारे गए 39 भारतीयों की जानकारी देनी थी.’’ इराक में मारे गए भारतीयों के संबंध में अपने बयान के दौरान लोकसभा में कांग्रेस द्वारा हंगामा किए जाने को ओछी राजनीति करार देते हुए सुषमा ने कहा कि हंगामे का नेतृत्व कांग्रेस के ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया और लोकसभा अध्यक्ष द्वारा बार बार आग्रह करने के बावजूद सिंधिया के नेतृत्व में कांग्रेस सदस्यों का शोर शराबा जारी रहा.

विदेश मंत्री ने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव विषय पर कांग्रेस सदस्यों ने एक बार मांग नहीं की, ‘‘ लेकिन आज कौन सी बात थी कि इतने संवेदनशील विषय पर कांग्रेस इस तरह से शोर शराबा किया. ’’सुषमा ने कहा, ‘‘आज लोकसभा में कांग्रेस का व्यवहार ओछी राजनीति की सारी हदें पार कर गया. ’’ उन्होंने कहा, ‘‘क्या मौत पर भी राजनीति करेंगे. इतनी बड़ी घटना .राज्यसभा में कह चुकी थी कि इराक में भारतीयों की मौत का समाचार लेकर आई हूं. हर बार कांग्रेस के सवाल पूछते थे, लेकिन आज जब यह दुखद जानकरी लेकर आई तब किसी को सुनने नहीं दिया. 5 मार्च से 19 मार्च तक संसद में अपने किये को कांग्रेस के लोग भूल गए . आज कौन सी बाध्यता थी.’’ 



हंगामे के लिये कांग्रेस अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए सुषमा स्वराज ने कहा कि राज्यसभा में सब लोगों ने इस बारे में बयान को ध्यान से सुना था. जब कांग्रेस अध्यक्ष को लगा कि ये क्या हो गया, ऐसा शांतिपूर्ण कैसे हो गया, वे शांति से बोलकर चली गई, सरकार के सारे प्रयास और सारी बातें रिकार्ड हो गई. तब उन्होंने तय किया कि लोकसभा में ऐसा नही होने पाए . सुषमा ने कहा कि इसलिसे ज्योतिरादित्य सिंधिया को यह दायित्व दिया गया कि लोकसभा में शांति से ऐसा नहीं हो पाए. उन्होंने कहा कि वह भारी मन से यह दुखद समाचार देने लोकसभा गई थी और कांग्रेस के व्यवहार से उन्हें काफी दुख पहुंचा है.

विदेश मंत्री ने यह भी जानकारी दी कि मृतक भारतीय मूल रूप से कहां से हैं. उन्होंने बताया कि मृतकों में पंजाब के 24 लोग, हिमाचल के 4 लोग, बिहार के 6 लोग और बंगाल के 2 लोग शामिल हैं. उन्होंने यह भी बताया कि बिहार के एक नागरिक की पहचान अभी नहीं हो पाई है, लेकिन उसका नाम राजू यादव बताया. 
इराक में मारे गए 39 भारतीयों की सूची
1 धरमेंद्र कुमार पंजाब
2 हरीश कुमार पंजाब
3 हरसिमरनजीत सिंह पंजाब


4 कंवलजीत सिंह पंजाब
5 मलकीत सिंह पंजाब
6 रंणजीत सिंह पंजाब
7 सोनू पंजाब
8 संदीप कुमार पंजाब
9 मनजिंदर सिंह पंजाब
10 गुरचरण सिंह पंजाब
11 बलवंत राय पंजाब
12 रूप लाल पंजाब
13 देविंदर सिंह पंजाब
14 कुलविंदर सिंह पंजाब
15 जतिंदर सिंह पंजाब
16 निशान सिंह पंजाब
17 गुरदीप सिंह पंजाब
18 कमलजीत सिंह पंजाब
19 गोबिंदर सिंह पंजाब
20 प्रीतपाल शर्मा पंजाब
21 सुखविंदर सिंह पंजाब
22 जसवीर सिंह पंजाब
23 परविंदर कुमार पंजाब
24 बलवीर चंद पंजाब
25 सुरजीत मैंका पंजाब
26 नंद लाल पंजाब
27 राकेश कुमार पंजाब
28 अमन कुमार हिमाचल प्रदेश
29 संदीप सिंह राणा हिमाचल प्रदेश
30 इंदरजीत हिमाचल प्रदेश
31 हेम राज हिमाचल प्रदेश
32 समर टीकदर पश्चिम बंगाल 
33 खोखां सिकदर पश्चिम बंगाल
34 संतोष कुमार सिंह बिहार
35 विद्या भूषण तिवारी बिहार 
36 अदालत सिंह बिहार
37 सुनील कुमार कुशवाहा बिहार 
38 धर्मेंद्र कुमार बिहार 
39 राजू कुमार यादव बिहार( सत्यापन किया जाना बाकी)

No comments:

Post a Comment

Pages