10वीं की गणित और 12वीं की इकोनॉमिक्‍स की परीक्षा फिर होगी, नई तारीखों का ऐलान जल्द - .

Breaking

Wednesday, 28 March 2018

10वीं की गणित और 12वीं की इकोनॉमिक्‍स की परीक्षा फिर होगी, नई तारीखों का ऐलान जल्द

CBSE : 10वीं की गणित और 12वीं की इकोनॉमिक्‍स की परीक्षा फिर होगी, नई तारीखों का ऐलान जल्द


सीबीएसई ने 10वीं की गणित की और 12वीं की इकोनॉमिक्‍स की परीक्षा फिर कराने का ऐलान किया है. सीबीएसई ने कहा कि नई तारीखों का ऐलान एक हफ्ते के भीतर किया जाएगा. इससे पहले आज सीबीएसई ने दोनों परीक्षाओं को निरस्त करने की बात कही. उल्लेखनीय है कि आज ही सीबीएसई का 10वीं क्लास का गणित का पेपर हुआ है जबकि 26 तारीख को इकोनोमिक्स का पेपर हुआ था.

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड( सीबीएसई) ने परीक्षा फिर से लिए जाने के बारे में सर्कुलर जारी कर कहा कि इस बारे में तारीखों और अन्य जानकारी को बोर्ड की वेबसाइट पर उपलब्ध करवाया जाएगा. इसमें कहा गया, ‘‘जैसा की खबरों में आया है, कुछ परीक्षाओं के आयोजन में कुछ घटनाओं का बोर्ड ने संज्ञान लिया है. बोर्ड परीक्षाओं की शुचिता और निष्पक्षता को बनाए रखने के लिए और छात्रों के हित में बोर्ड ने उक्त विषयों की दोबारा परीक्षा लेने का फैसला किया है.’’ सर्कुलर में कहा गया कि दोबारा ली जाने वाली परीक्षाओं की तारीख की जानकारी हफ्तेभर के भीतर सीबीएसई की वेबसाइट पर डाली जाएगी. सोमवार को सोशल मीडिया की वेबसाइटों पर अर्थशास्त्र के पेपर के लीक होने का दावा किया गया था जिसके बाद 12वीं के सीबीएसई के छात्रों के बीच हड़कंप मच मच गया था. सीबीएसई ने इन दावों को खारिज किया था और कहा था, ‘‘हमने सभी परीक्षा केंद्रों पर जांच की है, प्रश्न पत्र लीक नहीं हुआ है.’’ बोर्ड ने कहा कि जानकारी फैलाने वाले स्रोत का अब तक पता नहीं चल सका है.’’ दिल्ली सरकार ने 15 मार्च को कहा था कि उसे 12वीं के सीबीएसई के अकाउंटेंसी के प्रश्न पत्र के लीक होने की शिकायत मिली है. बोर्ड ने किसी भी तरह के पेपर लीक से इनकार किया था उसके बावजूद सरकार ने जांच के आदेश दिए थे. बोर्ड ने कहा था, ‘‘प्रश्न पत्र लीक नहीं हुआ है. सभी परीक्षा केंद्रों में सभी सीलें जस की तस पाई गई हैं. हालांकि स्थानीय स्तर पर कुछ बदमाशों ने वॉट्सऐप और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए शायद ऐसे संदेश फैलाए हैं जिससे परीक्षा की शुचिता को नुकसान पहुंचाया जा सके.’’

दिल्ली पुलिस ने सीबीएसई की शिकायत जिसमें 12वीं क्लास के इकोनॉमिक्स और 10वीं के मैथ्स के पेपर लीक की बात थी, उसपर एफआईआर दर्ज कर ली है. आईपीसी की धारा 420, 468, 471 तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है. बोर्ड ने अपने नोटिस में कहा कि कुछ घटनाओं के प्रकाश में आने और कुछ रिपोर्टों के सामने आने के बाद सीबीएसई ने यह कदम उठाया है. सीबीएसई ने कहा कि बच्चों के हितों की रक्षा करने के लिए यह कदम उठाया जा रहा है ताकि परीक्षा में निष्पक्षता और सुचिता बनी रहे.पेपर लीक की घटना के मद्देनजर यह कदम उठाया गया है. बता दें कि दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया भी पेपर लीक होनी की बात कह चुके थे. तब सीबीएसई ने इस बात से इनकार किया था.



इकोनोमिक्स में छात्रों से क्‍वेश्‍चन पेपर में 24 सवाल पूछे गए थे. पेपर दो भागों मैक्रोइकॉनॉमिक्स और माइक्रोइकॉनॉमिक्स में बांटा गया था. हर हिस्‍से में 12 क्‍वेश्‍चन शामिल हैं.

CBSE पेपर लीक
इस साल सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा छात्रों द्वारा पेपर लीक होने के आरोपों के साथ विवाद में फंस गई है. अकाउंटैंसी पेपर की लीक होने के आरोपों के बाद, दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने संबंधित अधिकारियों से आरोपों की जांच के लिए कहा था.हालांकि सीबीएसई ने पेपर लीक की तमाम खबरों को खारिज करते हुए कहा था कि व्हाट्सऐप और अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से संदेशों द्वारा पेपर लीक करने की शरारत करने की कोशिश की गई है.

No comments:

Post a Comment

Pages