एलओसी पर सेना ने पाकिस्‍तान की बॉर्डर एक्‍शन टीम के हमले को किया नाकाम - .

Breaking

Monday, 19 February 2018

एलओसी पर सेना ने पाकिस्‍तान की बॉर्डर एक्‍शन टीम के हमले को किया नाकाम

एलओसी पर सेना ने पाकिस्‍तान की बॉर्डर एक्‍शन टीम के हमले को किया नाकाम


जम्मू के पुंछ में एलओसी पर सेना ने पाकिस्तान के एक और बैट हमले को नाकाम कर दिया है और पाक सेना के एक कमांडो को मार गिराया गया है. उसके दो गंभीर रूप से घायल कमांडो भाग गए हैं. सेना ने एक पाकिस्तानी का जो शव बरामद किया है वो पाक सेना का कमांडो लग रहा है. इस बीच बैट हमले के बाद सेना ने सरहदी इलाके में रह रहे लोगों को अपने घरों से बाहर ना निकलने की चेतावनी दी है. बैट में पाक सेना के कमांडो और आतंकी होते हैं. ये घात लगाकर सेना के जवानों पर हमला करते हैं और उनके शव को क्षत विक्षत कर देते हैं. सेना ने रविवार देर रात पाकिस्तान की ओर से बैट यानी कि पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम के हमले को विफल किया है. ये हमला पुंछ के खारी इलाके में हुआ था.

हालांकि, अभी ये पता नहीं चल पाया है कि जिस पाकिस्तानी की लाश बरामद हुई है, वह पाकिस्तानी स्पेशल सर्विस ग्रुप का सदस्य है या फिर आतंकवादी. हालांकि, वह आर्मी की वर्दी में ही था. जिस जगह ये गोलीबारी हुई है, वहां पर हथियारों का बड़ा जखीरा मिला है. तीन जिंदा आरपीजी ग्रेनेड, चार डिस्पोजेबल रॉकेट लांचर, दो आईकेओएम रेडियो सेट, एक एके मैगज़ीन, दो मोलोटव कॉकटेल, चार यूबीजीएल ग्रेनेड, सात हैंड ग्रेनेड, पिआइकेए बेल्ट फायर, एक मोबाइल फ़ोन, मेडिकल पैक और पाक झंडा मिला है.



सेना के मुताबिक ये पाक की ओर से घुसपैठ करने की फिराक में थे, इसी बीच सीमा पर तैनात जवानों ने उनकी हरकत को भांप लिया और एक को मार गिराया. इस दौरान पाक सेना की ओर से ना केवल कवर फायर दिया जा रहा था बल्कि उनको घुसपैठ कराने के लिए हर संभव कोशिश भी कर रहे थे. भारतीय सेना ने गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है. पाक की सेना ने भारतीय सेना की चौकियों के साथ ही करमाड़ा, खड़ी और पोलस गांव को भी निशाना बनाया और मोर्टार दागे.

सूत्रों की मानें तो सेना ने कश्मीर के केरन सेक्टर के अग्रिम इलाके में स्थित दो अग्रिम चौकियों बलवीर व काचिल में  गश्त बढ़ा दी है. किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा गया है. सेना ने एक बयान जारी कर कहा है कि पाक सेना लगातार इसी तरीके से आतंकियों को मदद पहुंचा रही है. साथ में 2003 में हुए युद्धविराम समझौते का भी उलघनन कर रही है. इसके अलावा 2004 में पाक ने ये वादा भी किया था कि उसकी ज़मीन का इस्तेमाल भारत के खिलाफ किसी भी तरह की आतंकवादी गतिविधियों के लिए नहीं होने देगा. ये साफ है कि पाक जम्मू कश्मीर में शांति बहाली नहीं होने देगा.

No comments:

Post a Comment

Pages