15 फरवरी 2018 को पहला सूर्यग्रहण है. जानें भारत में कितने बजे आएगा नजर - .

Breaking

Wednesday, 14 February 2018

15 फरवरी 2018 को पहला सूर्यग्रहण है. जानें भारत में कितने बजे आएगा नजर

Surya Grahan 2018 Date and Time: जानें भारत में कितने बजे आएगा नजर


साल 2018 का पहला सूर्यग्रहण 15 फरवरी को होगा. इससे पहले 31 जनवरी को इस साल का पहला चंद्रग्रहण देखा गया था. इस ग्रहण के दौरान 152 साल बाद बहुत दुर्लभ संयोग बना, इस रात चांद 30 फीसदी ज़्यादा चमकीला था. इसके साथ ही अलग-अलग देशों में सुपर मून, ब्लड मून और ब्लू मून एक साथ देखे गए थे. अब आया है सूर्यग्रहण, जो 15 फरवरी की रात को पड़ेगा, जिस वजह से यह कई देशों में सूर्य नहीं दिखाई देखा. यहां जानिए किस वक्त दिखेगा यह ग्रहण, कहां होगा इसका दीदार और इसके बाद फिर कब आएगा ग्रहण. 

आपको बता दें कि इस साल 2018 में पांच ग्रहण होंगे, जिसमें से 3 सूर्यग्रहण और 2 चंद्रग्रहण हैं. 15 फरवरी 2018 को पहला सूर्यग्रहण है. इसके बाद दूसरा सूर्यग्रहण 13 जुलाई 2018 और तीसरा सूर्यग्रहण 11 अगस्त 2018 को होगा. वहीं, पहला चंद्रग्रहण 31 जनवरी 2018 को था और दूसरा चंद्रग्रहण 27-28 जुलाई 2018 को होगा. 



ग्रहण का समय?
यह ग्रहण 15 फरवरी (गुरुवार) की रात 12.25 मिनट से शुरू होकर 16 फरवरी सुबह 4.18 तक रहेगा. हालांकि सूतक काल ग्रहण के लगभग 12 घंटे पहले यानी 15 फरवरी सुबह 11.35 पर शुरू हो जाएगा. सूर्यग्रहण अमावस्या के दिन होता है. जबकि चंद्रग्रहण हमेशा पूर्णिमा के दिन पड़ता है. आगे जानें कहां होगा इस ग्रहण का दीदार.



कहां दिखेगा सूर्यग्रहण?
भारतीय समय के अनुसार यह सूर्यग्रहण रात के समय है, इसी वजह यह भारत में नहीं दिखाई देगा. यह दक्षिण अमेरिका, अंटार्कटिका, उरुग्वे और ब्राजील जैसे देशों में देखा जाएगा. अंटार्कटिका में यह अधिक देखा जाएगा.

क्या होता है सूर्यग्रहण?
पृथ्वी अपनी धुरी पर घूमने के साथ-साथ अपने सौरमंडल के सूर्य के चारों ओर भी चक्कर लगाती है. दूसरी ओर, चंद्रमा दरअसल पृथ्वी का उपग्रह है और उसके चक्कर लगता है, इसलिए, जब भी चंद्रमा चक्कर काटते-काटते सूर्य और पृथ्वी के बीच आ जाता है, तब पृथ्वी पर सूर्य आंशिक या पूर्ण रूप से दिखना बंद हो जाता है. इसी घटना को सूर्यग्रहण कहा जाता है.

या कहें यह एक प्रकार की खगोलीय स्थिति है. जिनमें सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी तीनों एक ही सीधी रेखा में आ जाते हैं. इससे चांद सूर्य की उपछाया से होकर गुजरता है, जिस वजह से उसकी रोशनी फिकी पड़ जाती है.

No comments:

Post a Comment

Pages