पिज्जा का इतिहास - .

Breaking

Friday, 26 January 2018

पिज्जा का इतिहास

पिज्जा का इतिहास 


हम में से पिज्जा खाना किसे पसंद नहीं होगा, पिज्जा दुनिया की सबसे टेस्टी  डिशेज में से एक माना जाता है, पर क्या आप लोग जानते है कि पिज्जा का अविष्कार सबसे पहले इटली में हुआ था. आपको जानकर हैरानी होगी कि सबसे पहला पिज्जा ब्रेड, खजूर, तेल और हर्ब्स को मिलाकर तैयार करके मिट्टी के ओवन में पकाया गया था. 

मार्गरिटा पिज्जा

अट्ठारवीं सदी में पिज्जा नेपोलिस में काफी मशहूर हो गया था, जो लोग बड़े शहरों में रहते थे उनके लिए पिज्जा एक सस्ता और आसानी से पकने वाला व्यंजन था, जिसकी वजह से लोग इसे काफी पसंद करने लगे थे.ऐसा माना जाता है 18वीं शताब्दी में राजा अम्बर्टो 1 और रानी मार्गरिटा इटली के दौरे पर निकले थे, जहां राफेल एस्पोसिटो नाम के एक पिज्जा विक्रेता को बुलाया गया था. जिसने रानी मार्गरिटाके लिए एक खास पिज्जा बनाया, जिसमें टमाटर, चीज़ और बहुत सारी टॉपिंग का इस्तेमाल किया गया था. रानी मार्गरिटा को वह पिज्जा इतना पसंद आया कि एस्पोसिटो ने बाद में उस पिज्जा को मार्गरिटा पिज्जा का नाम दे दिया गया.

आगे की कहानी

इजिप्ट , इराक और रोमानिया के बाद पिज्जा स्पेन, इंग्लैंड, फ्रांस और अमेरिका में भी काफी मशहूर हो गया था.अमेरिका में द्वितीय विश्वट युद्ध के समय पिज्जा सबसे ज्यादा खाया जाने लगा था, वहां के लिए पिज्जा अब कोई पारम्परिक व्यंजन नहीं रह गया था बल्कि फास्टट फूड में शामिल हो गया था. गेनेरो लोम्बार्डीने सन 1905 में पहला पिज़्ज़ेरिया न्यूयॉर्कमें खोला था.

मरीनारा पिज्जा

मरीनारा पिज्जाको ‘ला मरीनारा’ पिज्जा के नाम से भी जाना जाता था. अगर मार्गरिटा पिज्जा के बाद कोई पिज्जा दुनियाभर में मशहूर हुआ था तो वो मरीनारा पिज्जा था. टमाटर,लहसुन, चीज़ और ऑरिगेनो को मिलाकर यह पिज्जा सबसे पहले सपनी अर्डस नाम के विक्रेता ने यूरोप में तैयार किया था.मरीनारा सॉस का नाम मारिनर्स सॉस से उत्त्पन हुआ था. 

पिज्जा आज के जमाने में कोई विशेष व्यंजन नहीं रह गया है, बल्कि आज वह हर इंसान का खास व्यंजन बन चुका है. आज लोगों के लिए पिज्जा खाना कोई बड़ी बात नहीं है क्योंकि अब हर जगह पिज़्ज़ेरिया खुलने की वजह से लोग अपना मनपसंद पिज्जा कही से भी और कभी भी खा सकते है.

No comments:

Post a Comment

Pages