जेटली बोले-नोटबंदी, GST का असर पीछे छूटा, चिदंबरम ने बताया सिर्फ गिरावट पर लगाम है ग्रोथ - .

Breaking

Thursday, 30 November 2017

जेटली बोले-नोटबंदी, GST का असर पीछे छूटा, चिदंबरम ने बताया सिर्फ गिरावट पर लगाम है ग्रोथ

finance minister Arun Jaitley on GDP growth figures To 6.3% In Q2

जीडीपी में उछाल आने के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भाजपा सरकार की सराहना की है। उन्होंने कहा कि निवेश में तेजी बढ़ी है और हम आगे की तरफ बढ़ रहे हैं। बता दें कि जीडीपी 5.7 से 6.3 हो गई है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी के बाद यह उछाल आया है। तीसरी चौथी तिमाही में सुधार होगा। उन्होंने कहा कि 5 तिमाही से गिरावट का दौर रुक गया है। 
उन्होंने कहा कि हमने नोटबंदी और जीएसटी लागू करने के दो सुधारात्मक कदमों के प्रभाव को पीछे छोड़ दिया है। हमें उम्मीद है कि आने वाली तिमाही में हमारी विकास दर तेजी से बढ़ेगी। पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही से ही हमारी विकास दर लगातार कम होती जा रही थी लेकिन इस तिमाही से हम वृद्धि की ओर बढ़ेंगे। 

 भारत की निरंतर विकास गाथा है यह जीडीपी: शाह 
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने विकास दर में वृद्धि को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में जारी देश की निरंतर विकास गाथा से जोड़ा है। उन्होंने विनिर्माण क्षेत्र की विकास दर को सकारात्मक संकेत बताते हुए ट्वीट किया, ‘आज की जीडीपी विकास दर एक बार फिर पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत की निरंतर विकास गाथा को बयां करती है।

विकास दर में यह तेजी मोदी सरकार के ठोस आर्थिक प्रबंधन का ही नतीजा है। विश्व बैंक, मूडी और स्टैंडर्ड पूअर्स जैसी रेटिंग एजेंसियों की सकारात्मक रेटिंग भी बता चुकी है कि भारत की तरक्की को कोई रोक नहीं सकता।’

सिर्फ गिरावट पर लगाम है जीडीपी वृद्धि : चिदंबरम 
कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने जीडीपी विकास दर में वृद्धि का स्वागत किया है। हालांकि उन्होंने इसे लेकर आगाह भी किया कि यह विकास दर सिर्फ गिरावट को थामने वाली है और किसी ठोस निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले आपको अगली तीन-चार तिमाही तक इंतजार करना होगा।

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘विकास दर 6.3 फीसदी पर पहुंचने से खुशी है। पिछली पांच तिमाही से इसमें गिरावट के दौर पर लगाम लगी है। लेकिन अभी हम यह नहीं कह सकते कि विकास दर में वृद्धि का रुझान कब से शुरू होगा। यह दर मोदी सरकार के वादे और पूर्ण व्यवस्थित भारतीय अर्थव्यवस्था के लिहाज से बहुत नीचे है।’

No comments:

Post a Comment

Pages