तो क्या देश बनाना इतना आसान है? जानिए 'किंगडम ऑफ दीक्षित' की पूरी सचाई - .

Breaking

Monday, 20 November 2017

तो क्या देश बनाना इतना आसान है? जानिए 'किंगडम ऑफ दीक्षित' की पूरी सचाई

तो क्या देश बनाना इतना आसान है? जानिए 'किंगडम ऑफ दीक्षित' की पूरी सचाई

 कुछ दिन पहले सोशल मीडिया पर एक खबर वायरल हुई थी. जिसमें भारत के एक लड़के ने अपना देश बनाया था. पापा को पीएम और खुद को राजा बना दिया था. सोशल मीडिया पर खबर वायरल हुई तो हर जगह इसकी चर्चा होने लगी. सभी सोच में पड़ गए कि आखिर कोई कैसे अपना देश बना सकता है. लेकिन आपको बता दें, देश बनाना इतना आसान नहीं है. सुयश के हिसाब से तो वो जमीन उसकी है लेकिन दुनिया के हिसाब से नहीं. जहां सुयश ने किंगडम ऑफ दीक्षित बताया है उस जगह का नाम बिर ताविल है. 

क्या है बिर तविल?
ये जमीन सुडान और इजिप्ट के बीच में पड़ती है. जहां न सुडान का रूल है और न इजिप्ट का. यहां किसी सरकार का लॉ फॉलो नहीं होता है और यहां कोई रहता भी नहीं. द गार्जियन की रिपोर्ट की मानें तो सुडान के मैप में ये जगह इजिप्ट के हिस्से में आती है. लेकिन दोनों ही देश इसे अपना मानने से इंकार करते हैं.  CIA World Factbook की मानें तो इजिप्ट के मैप में भी ये जगह उनकी नहीं है. लेकिन फिर भी ये जगह इजिप्ट सरकार के अंतरगत आती है. सुयश के फेसबुक पोस्ट में लिखा है कि इजिप्ट आर्मी से परमीशन लेकर यहां जाना पड़ता है और वहां जो वो रूल्स बताएंगे उनको फॉलो करना पड़ेगा.


क्या झंडा गाड़कर राजा बन गया सुयश
सुयश के मानें तो वो यहां का राजा है. लेकिन वो है नहीं. अगर वो जगह किसी की नहीं है तो वो खुद का देश घोषित ही नहीं कर सकता. दीक्षित ने कहा है कि वो UN से देश बनाने के लिए बात करेगा. वॉशिंगटन पोस्ट को दिए इंटरव्यू में यूएन ऑफिशियल ने बताया था कि नए देश की मान्यता लेने के लिए पड़ोसी देशों को हामी भरना जरूरी है. बिना उनके नया देश नहीं बन सकता.

फेसबुक पर किंगडम ऑफ दीक्षित बनाकर क्या किया था...
* पापा को बनाया था पीएम और खुद को राजा
* देश की कुल जनसंख्या सिर्फ 1.
* सुयश ने अपनी राजधानी का नाम सुयशपुर रखा. 
* इस देश की स्थापना 5 नवंबर 2017.
* सुयश ने देश का राष्ट्र पशु छिपकली को चुना. क्योंकि वहां सिर्फ उन्हें छिपकली ही दिखीं. 

No comments:

Post a Comment

Pages