बलिया में सीएम योगी की रैली में पुलिस ने महिला से सरेआम उतरवाया बुर्का - .

Breaking

Tuesday, 21 November 2017

बलिया में सीएम योगी की रैली में पुलिस ने महिला से सरेआम उतरवाया बुर्का

बलिया में सीएम योगी की रैली में पुलिस ने महिला से सरेआम उतरवाया बुर्का



 उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में मंगलवार को सीएम योगी की रैली में पुलिस ने सरेआम एक महिला का बुर्का उतरवा कर जब्त कर लिया. महिला बीजेपी की कार्यकर्ता बताई जा रही है, जिसका कहना है कि वो हमेशा रैलियों में बुर्का पहन कर ही जाती है, लेकिन आज तक किसी ने उसका बुर्का नहीं उतरवाया. मुस्लिम उलेमा ने इसे गैर-कानूनी और महिला का अपमान करार दिया है. बलिया पुलिस कप्तान का कहना है कि वो मामले की जांच कराएंगे. 

बलिया के रैली ग्राउंड में सायरा, सीएम योगी को सुनने आई थीं. लेकिन उन्हें बुर्का में देख तीन महिला पुलिस फौरन उनके पास पहुंच गईं और उनसे बुर्का उतारने को कहा. सायरा ने बुर्के का ऊपरी हिस्सा (जिससे सिर ढंकते हैं) उतार दिया और अपना सिर साड़ी के पल्लू से ढंक लिया. लेकिन पुलिस ने उनसे पूरा बुर्का उतारने को कहा. बता दें कि कुछ बुर्के ऐसे होते हैं जो सामने से बटन से खुलते हैं. लेकिन सायरा का बुर्का सामने से बंद था. उसे सिर से ओढ़ के पहनना पड़ता है. सायरा को सरेआम रैली की भीड़ में बुर्का उतारना पड़ा. लेकिन वो उनकी डाढ़ में फंस गया. इस पर रैली में उनके पास बैठी दूसरी महिलाओं ने उनका बुर्का खींच कर उतारा. इतना ही नहीं, इसके बाद पुरुष पुलिसकर्मी ने उनका बुर्का जब्त भी कर लिया.

सायरा के साथ पुलिस की इस सलूक पर तीखी प्रतिक्रिया हुई है. ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के मेंबर मौलाना खालिद राशिद फिरंगीमहली ने एनडीटीवी से कहा कि 'पूरी दुनिया में चाहे कितना भी आजाद ख्याल मुल्क क्यों न हो, हर एयरपोर्ट पर महिलाओं की तलाशी एक कर्टने वाले इनक्लोजर के अंदर ही होती है. रैली की भीड़ में किसी महिला का बुर्का उतरवा कर छीन लेना गैर कानूनी है. इसके लिए पुलिस वालों को सजा मिलनी चाहिए.'

No comments:

Post a Comment

Pages