[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

'सरकार को समझ आया कि अर्थव्यवस्था सुधारने को चाहिए वियाग्रा’

'सरकार को समझ आया कि अर्थव्यवस्था सुधारने को चाहिए वियाग्रा’ 

कांग्रेस ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार के करीब साढ़े तीन साल के शासन में डिजिटल क्षेत्र को छोड़कर पूरी अर्थव्यवस्था की हालत बहुत खराब है और सरकार को अब महसूस होने लगा है कि इसमें जान फूंकने के लिए 'वियाग्रा' की जरूरत है.
पार्टी ने यह भी कहा कि हालात को देखते हुए श्वेत पत्र नहीं विपक्ष को सड़कों पर उतरने की जरूरत है.
कांग्रेस प्रवक्ता कपिल सिब्बल ने कहा, 'मोदी सरकार के शासनकाल में देश की एक प्रतिशत आबादी के पास 58 प्रतिशत संपदा है. पहले यह आंकड़ा 30 प्रतिशत था. इस सरकार के राज में अमीर और अमीर होते जा रहे हैं और गरीब और गरीब बन रहे हैं.'
उन्होंने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार हो रही वृद्धि की चर्चा करते हुए कहा कि कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमत के अनुसार पेट्रोल पर प्रति लीटर 21 रुपए की लागत आ रही है. ऑयल रिफाइनिंग आदि की लागत 9.56 रुपए प्रति लीटर आ रही है. इससे प्रति लीटर पेट्रोल के दाम करीब 31 रुपए पड़ रहे हैं. पेट्रोल के दाम मुंबई में 79 रुपए प्रति लीटर हैं जिसका मतलब है कि इस पर 48 रुपए प्रति लीटर का शुल्क दिया जा रहा है.
सिब्बल ने कहा कि एक केंद्रीय मंत्री कह रहे हैं कि वाहन रखने वाले कोई गरीब नहीं होते. सरकार का अहंकार देखिए. वित्त मंत्री अरुण जेटली कहते हैं कि 42 प्रतिशत केंद्रीय टैक्स को राज्यों को देना पड़ता है. उन्होंने कहा कि यदि आपको टैक्स लगाना ही है तो देश की उस एक प्रतिशत आबादी पर लगाइए जिसके पास 58 प्रतिशत संपदा है.
अमीरों को पहुंचाया जा रहा लाभ
उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक ने भी यह स्वीकार किया है कि 1963 के बाद बैंक लोन विकास दर कभी इतनी कम नहीं रही है जितना 2016-2017 में रही है. उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को इतने अकुशल ढंग से कभी नहीं चलाया गया. उन्होंने कहा, 'राजनीति करना अलग बात है पर लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ नहीं किया जाना चाहिए.'
उन्होंने किसानों, लघु एवं मझौले उद्योगों तथा परिवहन क्षेत्र में आई मंदी का जिक्र करते हुए कहा कि आज लोगों के पास खर्च करने की शक्ति ही नहीं बची है. उन्होंने कहा कि इस सरकार की नीतियों को आप इसी से समझ सकते हैं कि सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर की कीमत तो बढ़ा दी गई पर गैर-सब्सिडी वाले सिलेंडर पर दाम कम कर दिया गया. इसका मतलब है कि अमीरों को लाभ पहुंचाया जा रहा है.
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा, 'अब सरकार को यह महसूस हो रहा है कि अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहन देने के लिए वियाग्रा की जरूरत है.'

About Author saloni

i am proffesniol blogger

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search