Toilet seat से ज्यादा प्लास्ट‍िक बोतल पर होते हैं कीटाणु - .

Breaking

Saturday, 1 July 2017

Toilet seat से ज्यादा प्लास्ट‍िक बोतल पर होते हैं कीटाणु


gjlhk



Toilet seat से ज्यादा प्लास्ट‍िक बोतल पर होते हैं कीटाणु 



 


एक हालिया अध्ययन की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि जिस प्लास्ट‍िक बोतल का लोग बार-बार पीने के पानी के लिए इस्तेमाल करते हैं, उसमें दरअसल ट्वॉयलेट सीट से भी ज्यादा कीटाणु होते हैं, जो बीमारियों का कारण बनते हैं.
पपीते के पत्तों का जूस पीने से दूर होगी ये जानलेवा बीमारी...
Treadmill Reviews द्वारा कराए गए एक हालिया अध्ययन में यह खुलासा किया गया है.
अध्ययन नतीजों की मानें तो बोतल में पाए जाने वाले कीटाणुओं में 60 फीसदी ऐसे कीटाणु मौजूद हैं, जो गंभीर बीमारी का कारण बन सकते हैं.
बढ़े कार्डियेक अरेस्‍ट के मामले, हेल्दी हार्ट के लिए खाएं ये 5 मसाले
तो क्या करें
1. इससे बचने का सबसे अच्छा तरीका ये है कि आप किसी भी यूज्ड प्लास्ट‍िक बोतल को री-यूज न करें. एक बार इस्तेमाल करने के बाद उसे फेक दें. खासतौर से बाजार में मिलने वाली पानी भरी बोतलों का इस्तेमाल दोबारा न करें.
2. बेहतर ये होगा कि आप घर के लिए BPA फ्री प्लास्ट‍िक बोतल खरीदें.
3. शीशे और स्टेनलेस स्टील से बनी बोतल हो तो सबसे बेहतर

 

No comments:

Post a Comment

Pages