[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

GST के लिए 70 साल बाद आधी रात को बुलाया जाएगा पार्लियामेंट सेशन


GST के लिए 70 साल बाद आधी रात को बुलाया जाएगा पार्लियामेंट सेशन
नई दिल्ली.गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स (GST) लागू करने के लिए सरकार ने 30 जून को पार्लियामेंट का स्पेशल सेशन बुलाया है। 30 जून की रात करीब 11 बजे यह सेशन पार्लियामेंट के सेंट्रल हॉल में होगा। रात 12 बजते ही राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री जीएसटी को ऑफिशियली लॉन्च करेंगे। अरुण जेटली ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी। बता दें कि देशभर में 1 जुलाई से GST लागू होने जा रहा है। ऐसा पहली बार होगा जब किसी कानून को लागू करने के लिए आधी रात को संसद सत्र बुलाया जाएगा। इससे पहले 14 अगस्त 1947 को आधी रात को विशेष सत्र बुलाया गया था। 30 जून कोे होगा जीएसटी ऑफिशियली लॉन्च...
- जेटली ने कहा, ''30 जून देर रात से इसे ऑफिशियली लॉन्च किया जाएगा। लॉन्च का फंक्शन पार्लियामेंट के सेंट्रल हॉल में होगा। इसमें सभी सांसद, सभी राज्य सरकारों के वित्त मंत्री और शुरू से लेकर अब तक एम्पावर्ड मीटिंग के मेंबर्स रहे लोगों को न्योता दिया है।’’
- ‘‘आधी रात को राष्ट्रपति की मौजूदगी में जीएसटी ऑफिशियल लॉन्च होगा। उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन और दो पूर्व मनमोहन सिंह और एचडी देवेगौड़ा को भी न्योता दिया गया है। वे भी मंच पर रहेंगे। लॉन्चिंग से पहले राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री जीएसटी के बारे में अपनी बात रखेंगे।’’
2 राज्यों को छोड़कर बाकी सभी राज्यों में GST पास
- जेटली ने कहा कि जीएसटी काउंसिल के जितने भी फैसले हुए, सारे आम राय से हुए। केरल में आने वाले हफ्ते में बिल पास हो जाएगा। जम्मू-कश्मीर में जीएसटी के लिए प्रक्रिया चल रही है। इन दो राज्यों को छोड़कर बाकी राज्यों में जीएसटी बिल पास हो चुका है। एक प्रकार से सभी निर्णय संसद के दोनों सदनों, राज्य विधानसभाओं में सहयोग रहा। पूरे देश के इनडायरेक्ट टैक्सेशन सिस्टम को यह पूरा बदल देगा।
70 साल पहले आधी रात को बुलाया गया था स्पेशल सेशन
देश को आजादी मिलने से पहले 14 अगस्त 1947 को संविधान सभा के अध्यक्ष डॉ. राजेंद्र प्रसाद की अगुआई में आधी रात को संसद सत्र बुलाया गया था। तब वंदे मातरम् गाया गया था। आधी रात को आजादी मिलने का एलान हुआ था। इसके बाद डॉ. प्रसाद की स्पीच हुई। बाद में पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने tryst with destiny स्पीच दी। सभी के सामने राष्ट्रीय ध्वज को लाया गया था। आधी रात के बाद संसद 15 अगस्त की सुबह 10 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई थी।

About Author saloni

i am proffesniol blogger

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search