रिकी पॉन्टिंग का आलोचकों को जवाब धोनी को नज़रअंदाज़ ना करें - .

Breaking

Saturday, 29 April 2017

रिकी पॉन्टिंग का आलोचकों को जवाब धोनी को नज़रअंदाज़ ना करें


मुंबई: एमएस धोनी पर जब भी सवाल उठे, एमएसडी ने उसका जवाब बड़े ही स्टाइल से दिया. धोनी आलोचकों को जवाब मैदान पर बल्ले से देना पसंद करते हैं. उनके दिमाग में कब, क्या चल रहा होता किसी के लिए अंदाज़ा मुश्किल होता रहा है- मैदान पर भी, मैदान के बाहर भी. कुछ दिनों पहले पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने धोनी को लेकर बयान दिया, “मैं पूरी तरह आश्वस्त नहीं हूं कि धोनी अब भी T20 के अच्छे खिलाड़ी हैं. वो वनडे के चैंपियन खिलाड़ी हैं. लेकिन अगर टी20 की बात करें तो पिछले 10 साल में उनके नाम एक अर्द्धशतक है और ये अच्छा रिकॉर्ड नहीं है.” थोड़े ही दिनों बाद धोनी ने पुणे के लिए खेलते हुए हैदराबाद के ख़िलाफ़ 34 गेंदों पर नाबाद 61 रनों की पारी खेली (स्ट्राइक रेट 179.41) और ज़ाहिर तौर पर अपनी टीम को जीत भी दिलाई.
1 से 18 जून तक लंदन में होने वाले चैंपियंस ट्रॉफ़ी के लिए जानकार अलग-अलग टीम और खिलाड़ियों पर दांव लगाने लगे हैं. पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पॉन्टिंग ने सभी टीमों को एक तरह से चेतावनी दी है कि वो ‘चैंपियन’ धोनी को कभी नज़रअंदाज़ करने की हिमाकत ना करें. वो मानते हैं कि आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफ़ी में 35 साल के धोनी बेहद अहम रोल अदा कर सकते हैं. क़रीब एक दशक तक टीम के कप्तान रहे धोनी का रिकॉर्ड वनडे में कप्तान और खिलाड़ी दोनों ही तौर पर शानदार रहा है. एमएसडी ने 286 वनडे में क़रीब 51 के औसत से 9275 रन (स्ट्राइक रेट 88.98, 10 शतक, 61 अर्द्धशतक) बनाए हैं. पिछली 10 पारियों में उनके नाम एक शतक और एक अर्द्धशतक भी है. धोनी अपने करियर के बेहतरीन फ़ॉर्म में नहीं हैं. लेकिन पॉन्टिंग कहते हैं, “चीज़ें (क्रिकेट में) आसानी से बदल सकती हैं और मैंने सीखा है कि किसी चैंपियन खिलाड़ी को कभी नहीं नकारना (नज़रअंदाज़) चाहिए. वो हमेशा वापस आने का रास्ता ढूंढ लेंगे. ऐसा (ग्लेन) मैक्ग्रा और (शेन) वॉर्न के साथ भी हो चुका है…” आईपीएल-10 के 8 मैचों में धोनी ने 25.33 के औसत से 152 रन (सर्वाधिक 61*, स्ट्राइक रेट 120.63, अर्द्धशतक 1) बनाए हैं. पॉन्टिंग कहते हैं कि धोनी ने क्रिकेट में सबकुछ हासिल कर लिया है. वो कहते हैं कि धोनी वर्ल्डकप विजेता कप्तान हैं, अपनी टीम को नंबर 1 टेस्ट टीम बना चुके हैं और इसके अलावा आईपीएल में भी अपनी टीम को चैंपियन बना चुके हैं. धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने 2013 में मिनी वर्ल्ड कप यानी आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफ़ी का भी ख़िताब जीता. धोनी एक बार फिर चैंपियंस ट्रॉफ़ी में अपना दम दिखाने को तैयार हो रहे हैं. विपक्षी टीमों को ‘चैंपियन धोनी’ से सावधान रहने की ज़रूरत होगी. साभार ndtv

No comments:

Post a Comment

Pages