[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

सीएम योगी ने अपने मंत्रियों से कहा सुख भोगने के लिए नहीं मिली सत्ता


नई दिल्ली: सरकार बनने के कुछ हफ्तों के भीतर ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने मंत्रियों को शासन के मूल मंत्र दिए. सीएम योगी ने अपने सहयोगियों को बताया किस तरह यूपी सरकार को पार्टी के सिद्धांत ‘पार्टी विथ ए डिफरेंस’ पर खरा उतरना है और बाकी सरकारों से अलग एक विशिष्ट सरकार बनानी है. जनता की उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए योगी आदित्यनाथ ने अपने मंत्रियों को मूल मंत्र दिए.
सरकार बने कुछ हफ्ते ही हुए हैं, पर योगी आदित्यनाथ सरकार की छवि को लेकर सजग हैं. यही वजह है कि उन्होंने अपने सहयोगियों को यह साफ कह दिया है कि जनता का जनादेश सत्ता का सुख भोगने के लिए नहीं मिली है. सीएम ने कहा कि जब जनादेश इतना मजबूत हो, तो सरकार को भी लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरना होगा और काम करने का एक बेहतर मानक स्थापित करना होगा. योगी आदित्यनाथ ने मंत्रियों को लगातार काम करने की नसीहत दी और कहा कि सभी लोग मेहनत करें, शनिवार और रविवार की छुट्टियों को भूल जाएं. सभी बेहद सादगी और ईमानदारी से अपना काम करें. सीएम योगी ने सभी मंत्रियों को उपस्थिति पर भी चर्चा की और कहा, ‘बैठकों में सभी की उपस्थिति अनिवार्य है, भले ही वो समीक्षा बैठक हो और उनके विभाग से ना जुड़ी हो.’ कैबिनेट की पहली बैठक में मंत्रियों के मोबाइल फोन की घंटी बार-बार बजने पर मुख्यमंत्री ने मंत्रियों को हिदायत दी है कि बैठक में मोबाइल फोन ना लेकर आएं. यही नहीं नए सरकारी आवास में गृह प्रवेश से पहले फिजूलखर्ची ना करने की सलाह दी है. योगी ने कहा, ‘शिफ्ट होने से पहले साज-सज्जा में ज्यादा खर्च ना करें. सरकारी आवास की मरम्मत और पुताई करा कर शिफ्ट हो जाएं.’ सीएम आदित्यनाथ ने मंत्रियों को बताया कि हर छह महीने पर विभाग के साथ-साथ उनके मंत्रियों की कार्य क्षमता की भी समीक्षा होगी. अगर मंत्री समीक्षा में पास नहीं हुए, तो उनसे विभाग छोड़कर दूसरों को मौका देने के लिए कहा जाएगा.

About Author saloni

i am proffesniol blogger

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search