[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

गर्मी करने लगी बेहाल


नई दिल्ली: मौसम विभाग ने बताया कि गुजरात के सौराष्ट्र और कच्छ, राजस्थान के पश्चिमी हिस्से और पश्चिमी मप्र के ज्यादातर इलाकों में भीषण गर्मी पड़ रही है. महाराष्ट्र के मराठवाड़ा और विदर्भ जोरदार गर्मी की चपेट में हैं. कई इलाकों में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया. पिछले 24 घंटे में महाराष्ट्र के चंद्रपुर में अधिकतम तापमान 45.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. राजस्थान में बाड़मेर में 45.5 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकॉर्ड किया गया. इसके अलावा चूरु गंगानगर और बीकानेर में 45 डिग्री सेल्सियस का तापमान रिकॉर्ड किया गया.
मौसम विभाग के मुताबिक इन इलाकों को अभी फिलहाल भीषण गर्मी से अगले 1 हफ्ते तक निजात मिलती नजर नहीं आ रही है. मौसम विभाग ने उत्तर-पश्चिम भारत के तमाम इलाकों में 21 अप्रैल तक भीषण गर्मी पड़ने का अनुमान जताया है. मौसम विभाग के डायरेक्टर आर बिसेन के मुताबिक पश्चिमी राजस्थान और उससे सटे पाकिस्तान के इलाके के ऊपर एक एंटी साइक्लोन बना है, जिसके प्रभाव से हवाएं ऊपर से नीचे की तरफ बैठ रही हैं. हवाओं के ऊपर से नीचे आने पर सतह पर वायुदाब बढ़ जाता है और इस वजह से ऐसे इलाकों में सतह का तापमान सामान्य के मुकाबले 3 से 4 डिग्री सेल्सियस बढ़ जाता है. कुछ ऐसा ही हाल पश्चिमी राजस्थान का भी है. गर्म हवाएं पश्चिमी मध्य प्रदेश और उत्तर भारत के मैदानी इलाकों को अपनी चपेट में ले रही है, जिससे इन इलाकों में जबरदस्त गर्मी का सिलसिला शुरू हो गया है. उधर, दूसरी तरफ बंगाल की खाड़ी में बना वेदर सिस्टम काफी मजबूत हो चला है और यहां पर साइक्लोन का खतरा मंडराने लगा है. इस मजबूत वेदर सिस्टम की वजह से देश के तमाम इलाकों में हवाओं की दशा और दिशा बदल गई है. इससे इस बात की आशंका गहरा गई है कि मध्य भारत और उत्तर भारत के तमाम इलाकों में अगले चार पांच दिनों तक जोरदार गर्मी का प्रकोप देखा जाएगा. मौसम विभाग की ताजा चेतावनी के मुताबिक गुजरात, मप्र, पंजाब और हरियाणा में अगले तीन-चार दिनों तक जबरदस्त लू चलेगी. इसके अलावा खास बात यह है कि मौजूदा परिस्थितियों के चलते जम्मू एवं कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के निचले इलाकों और उत्तराखंड के शिवालिक इलाके में कई जगहों पर हीट वेव कंडीशन पैदा हो सकती है.मौसम विभाग का कहना है कि एक ओर गर्मी की मार दिखाई देगी, तो दूसरी तरफ पूर्वी बिहार , पश्चिम बंगाल, असम और मेघालय में अगले 24 घंटो के दौरान आंधी के साथ बारिश होने का पूर्वानुमान है. इसके अलावा नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में 16 अप्रैल से 18 अप्रैल तक तेज हवाओं के साथ बिजली की कड़क के बीच अंधड़ चल सकते हैं. लिहाजा इन इलाकों में लोगों को सावधान किया गया है. मौसम विभाग ने अंडमान-निकोबार द्वीप समूह के कई इलाकों में अगले 24 घंटो में 10 सेंटीमीटर से 20 सेंटीमीटर तक की भारी बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है. साथ ही यहां पर समुद्र में ऊंची-ऊंची लहरों के बीच तटीय इलाकों में 7 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं. लिहाजा लोगों को तटीय इलाके से दूर रहने की सलाह दी गई है.

About Author saloni

i am proffesniol blogger

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search