यूपी के CM का फैसला 18 मार्च तक टल सकता है - .

Breaking

Wednesday, 15 March 2017

यूपी के CM का फैसला 18 मार्च तक टल सकता है


नई दिल्ली: पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के नतीजे 11 मार्च को आ गए. गोवा और मणिपुर में बीजेपी सरकार बना चुकी है, पंजाब में 16 मार्च को कांग्रेस की सरकार बन जाएगी. लेकिन उप्र और उत्तराखंड में प्रचंड बहुमत से जीत हासिल करने वाली बीजेपी इन दोनों राज्यों में अभी तक अपना सीएम तय नहीं कर पाई है.
दोनों राज्य के लोगों को अपने नए सीएम का नाम जानने के लिए अभी और इंतजार करना पड़ सकता है. यूपी में मुख्यमंत्री का फैसला 18 मार्च तक टल सकता है. दरअसल पार्टी ने 18 मार्च को प्रदेश भर में विजय दिवस मनाने का ऐलान किया है. यूपी में 18 मार्च को बीजेपी विजय दिवस मनाएगी . इस बार बूथ स्तर पर ये विजय दिवस मानेगा. सभी विधायक सांसद और जनपद तक के पदाधिकारी इस विजय उत्सव में भाग लेंगे. इससे पहले मुख्यमंत्री के नाम पर सहमति ना बनने पर पर्यवेक्षकों का यूपी और उत्तराखंड का दौरा भी टल चुका है. सूत्रों के अनुसार हाईकमान द्वारा सीएम पद पर नाम तय होने के बाद ही विधायक दल की बैठक होगी. इस बीच सीएम पद के लिए नाम उछाले जाने से जुड़े सवाल पर राजनाथ सिंह ने कहा कि ये अनावश्यक और फालतू बात है. यूपी में बीजेपी को मिली जीत इतनी जबरदस्त है कि अब पार्टी के कर्णधारों को सीएम की पसंद पर भी दोबारा गौर करना पड़ रहा है. इंडिया टुडे के सूत्रों के मुताबिक अब गृह मंत्री राजनाथ सिंह को इस ओहदे का सबसे प्रबल दावेदार माना जा रहा है. केशव प्रसाद मौर्य और मनोज सिन्हा का भी नाम दौड़ में है. यूपी में दो डिप्टी सीएम भी बन सकते हैं. राजनाथ सिंह के अलावा पार्टी के ओबीसी चेहरे और राज्य इकाई के अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य को भी सीएम की रेस में अहम दावेदार मा जा रहा है. उनके अलावा संभावित मुख्यमंत्रियों में केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा और महेश शर्मा का भी नाम शामिल है.

No comments:

Post a Comment

Pages