भूगोल की किताब में गोंड आदिवासियों को गौ-मांस खाने वाला बताने पर कांग्रेस का विधानसभा में हंगामा - .

Breaking

Wednesday, 22 March 2017

भूगोल की किताब में गोंड आदिवासियों को गौ-मांस खाने वाला बताने पर कांग्रेस का विधानसभा में हंगामा


भोपाल: मप्र विधानसभा में बुधवार को MA भूगोल की किताब में गोंड आदिवासियों को गौ-मांस खाने वाला बताने पर कांग्रेस ने खूब हंगामा किया। इस बीच एजुकेशन मिनिस्टर जयभान सिंह पवैया ने कहा कि, सरकार ने इस किताब और उसके लेखक को ब्लैक लिस्टेड कर दिया है।
बुधवार को विधानसभा में अपोजिशन लीडर अजय सिंह ने एमए भूगोल (ज्याॅग्रफी) के सिलेबस में पढ़ाई जा रही ‘भारत का भूगोल’ का उल्लेख करते हुए कहा कि, इसमें गोंड आदिवासियों को गाय का मांस खाने वाला बताया गया है। यह गोंड आदिवासियों का अपमान है। उन्होंने गोंडवाना साम्राज्य का भी हवाला दिया। इसके बाद कांग्रेस विधायक हंगामा करने लगे। इसी बीच, एजुकेशन मिनिस्टर जयभान सिंह पवैया ने बताया कि इस किताब और उसके लेखक हरीश खत्री को ब्लैक लिस्टेड कर दिया गया है। इसके बावजूद कांग्रेस ने हंगामा जारी रखा। कांग्रेस का आरोप है कि यह किताब ‘कैलाश पुस्तक सदन भोपाल’ द्वारा पब्लिश की गई है। किताब में लिखा गया है की मध्य प्रदेश की आदिवासी जनजाति गोंड का अर्थ होता है गाय को मारने वाला और उसका मांस खाने वाला। हंगामे के बाद मीडिया से चर्चा करते हुए पवैया ने कहा कि यह एक प्राइवेट पब्लिशर की पब्लिश की गई किताब है, सरकारी नहीं। जबलपुर के महाकौशल कॉलेज की लाइब्रेरी के लिए इसे खरीदा गया था। हायर एजुकेशन मिनिस्टर ने बताया कि कॉलेज प्रिंसिपल और खरीदी करने वाले अफसर को भी शो कॉज नोटिस जारी करने के ऑर्डर दिए गए हैं। पवैया ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि कांग्रेस का इतिहास है कि उन्होंने गौमाता का खून बहाया है। इस मामले में मंत्री गोपाल भार्गव, गौरीशंकर बिसेन, जयंत मलैया और नरोत्तम मिश्रा सरकार का बचाव करते नजर आए। अजय सिंह और बाकी कांग्रेस नेताओं ने सीएम शिवराज सिंह चौहान के बयान की मांग की।

No comments:

Post a Comment

Pages