[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

नदी संरक्षण का कार्य अकल्पनीय: पं. जसराज


भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि नर्मदा सेवा यात्रा के उद्देश्यों को पूरा करने के लिये जन-सहभागिता जरूरी है। केवल सरकार अकेले इसे कर लें, यह मुश्किल है। इस यात्रा को जनता का भरपूर आशीर्वाद मिल रहा है। जनता का सहयोग नर्मदा को प्रदूषण से बचाने, नर्मदा में पानी की धारा लगातार बढ़े, नर्मदा तट पर धने छायादार पेड़ लगाये जाय, इस रूप में मिल सकता है। मुख्यमंत्री रायसेन जिले के घाट पिपरिया में यात्रा के जन-संवाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।
मैगसेसे पुरूस्कार विजेता प्रसिद्व पर्यावरण विद् राजेन्द्र सिंह ने कहा कि नीर, नारी, और नदी के खोये हुए सम्मान को पुनः प्रतिष्ठित करने का काम मुख्यमंत्री ने शुरू किया है। अन्य प्रदेशों के राजनेताओं को उनसे सीख लेनी चाहिये। यह अभियान मात्र औपचारिकता नहीं है बल्कि नदी संरक्षण के महत्वपूर्ण कार्य को पूरा करने समाज के सभी वर्गों को एक साथ जोड़ने का प्रयास है। उन्होंने कहा कि विश्व को प्रदूषित होते पर्यावरण से बचाना है तो हम सभी को मिल-जुल कर कार्य करना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्मदा सहित प्रदेश की अन्य नदियों में जल-प्रवाह निरंतर कम हो रहा है। तवा,बेतवा में पानी केवल बरसात के मौसम में ही देखने को मिलता है। जनता से अपील है कि वे नदी सहित अन्य जल-स्त्रोतों को बचायें। वर्षा ऋतु में जल को व्यर्थ न बहने दें। अगर नदी सरंक्षण के काम में हम समय रहते नहीं चेते तो आने वाली पीढियाँ हमें माफ नहीं करेंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्मदा यात्रा जन-आंदोलन बन गयी है। मॉ नर्मदा को संरक्षित और सवंर्धित करने का संकल्प लेने के लिये लोग निरंतर आगे आ रहे हैं। श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा के किनारे बसे शहरों के अपशिष्ट जल को सीवेज ट्रीटमेन्ट प्लाटों के माध्यम से साफ कर इसे सिंचाई के योग्य बनाया जायेगा। किसी भी स्थिति में नालों का प्रदूषित पानी नर्मदा में नहीं मिलने दिया जायेगा। नर्मदा तट पर बसे किसानों को जैविक खेती के लिये प्रोत्साहित किया जायेगा, ताकि रासायनिक उर्वरक से होने वाला प्रदूषण भी रोका जा सके। इस कार्य में सामाजिक संगठनों का सहयोग भी लिया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा कर्म कांड नहीं है बल्कि नदी जल-संरक्षण के प्रति लोगों में चेतना पैदा करने का विनम्र प्रयास है। नर्मदा के आशीर्वाद से प्रदेश का सिंचाई रकबा और जल विघुत का उत्पादन बढ़ा है। सुप्रसिद्व संगीतज्ञ पं. जसराज ने कहा कि नदी संरक्षण के लिये शिवराज चौहान द्वारा समाज को साथ लेकर जो कार्य किया जा रहा है, वह अकल्पनीय है। दुनिया भर में नदियाँ हैं, जो प्रदूषण का शिकार हो रही हैं। ऊर्जावन मुख्यमंत्री ने नर्मदा संरक्षण का जो कार्य हाथ में लिया है, वह विशेष रूप से सराहनीय है। नदियों को प्रदूषणमुक्त करना हम सभी का कर्त्तव्य है। आंरभ में नर्मदा यात्रा के कलश एवं ध्वज का पूजन मुख्यमंत्री एवं साधु-संतों ने किया। जन-संवाद के बाद नर्मदा आरती में बड़ी संख्या में लोगों ने श्रद्धा से भाग लिया।

About Author saloni

i am proffesniol blogger

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search