करण जौहर ने कंगना से कहा छोड़ दो खुद को हमेशा पीड़ित दिखाना - .

Breaking

Monday, 6 March 2017

करण जौहर ने कंगना से कहा छोड़ दो खुद को हमेशा पीड़ित दिखाना


मुंबई: फिल्म ‘रंगून’ की रिलीज के समय ‘कॉफी विद करण’ में आईं कंगना रनोत ने करण जौहर पर जमकर आरोप लगाए थे. हालांकि शो की मर्यादा को ध्यान में रखते हुए करण ने उस समय तो कुछ नहीं कहा, लेकिन लंदन में उन्होंने इसके खुलकर जवाब दिए हैं.
बातचीत में करण जौहर ने कहा है – कंगना मेरे शो पर एक मेहमान थीं. उन्हें अपनी राय देने का पूरा हक है लेकिन जब उन्होंने बॉलीवुड में भाई-भतीजावाद के विषय पर अपनी राय दी तो मैं बस इतना ही कहुंगा कि वह शायद मामले को पूरी तरह समझ नहीं पाई हैं. करण ने कहा- मैंने जो भी फिल्में बनाई हैं, क्या मैं अपने बेटे, बेटी या भतीजे के साथ काम कर रहा हुं? उन 15 फिल्म निर्माताओं के बारे में आप क्या कहेंगे जो इस फिल्म इंडस्ट्री से नहीं है और मैंने उनको चांस दिया. तरुण मनसुखानी, शकुन बत्रा, शशांक खेतान या फिर पुनीत मल्होत्रा – ये फिल्मी बैकग्राऊंड से ताल्लुक नहीं रखते. उनके बारे में कोई बात क्यों नहीं करता. जहां तक बात एक्टर्स से संबंधित है तो करण ने कहा है कि उन्होंने फिल्मी बैकग्राउंड वाले वरुण धवन और आलिया भट्ट को चांस दिया. लेकिन इसी के साथ सिद्धार्थ मल्होत्रा को भी इंडस्ट्री में इंट्रोड्यूस किया, वो भी उतने ही दमदार रोल के साथ. ऐसे में करण ने कंगना की बात पर ही सवाल उठा दिया है. अध्ययन सुमन ने ली कंगना पर चुटकी, कहा- टाइटैनिक को डूबने से बचा लें करण ने कंगना रनोट के मूवी माफिया कमेंट पर भी जोरदार जवाब दिया है. करण ने उलटे सवाल दागा- कंगना के मुताबिक मूवी माफिया का क्या मतलब है. उन्हें क्या लगता है हम क्या कर रहे हैं? अगर हम उनको फिल्में नहीं दे रहे हैं तो हम मूवी माफिया बन गए! करण ने कहा कि अगर उनको कंगना के साथ काम करने में दिलचस्पी नहीं है तो इस वजह से वह मूवी माफिया नहीं बन जाते. हालांकि करण ने इस पर खुशी जताई कि कंगना रनोत का हर विषय को देखने का अपना नजरिया है और हर किसी ने उनकी शो पर आने को लेकर उनकी सराहना की. कंगना ने जिस तरह करण से बात की, उस पर कई लोग कह रहे हैं कि ‘क्वीन’ ने इस फिल्म मेकर को कसकर करारे जवाब दिए हैं. लेकिन करण कहते हैं कि उनका शो पर चुप रहना एक होस्ट की मर्यादा थी. इसके अलावा, करण ने कंगना को महिला और पीड़ित होने, दोनों ही बातों पर सहानुभूति लेने की आदत को छोड़ने की सलाह दी है. उन्होंने कहा कि कंगना हर बार अपनी दुख भरी कहानी सुनाकर और इंडस्ट्री को बुरा बता कर लोगों को अपनी ओर करती हैं. अगर उन्हें वाकई ऐसा लगता है तो बेहतर है कि वे इस जगह से ही दूरी बना लें.

No comments:

Post a Comment

Pages