उत्तर पश्चिम भारत में गर्मी और झुलसाएगी - .

Breaking

Tuesday, 28 March 2017

उत्तर पश्चिम भारत में गर्मी और झुलसाएगी


नई दिल्ली: दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर पश्चिम भारत में गर्मी ने मंगलवार को खूब दम निकाला। अधिकतम तापमान ही नहीं न्यूनतम तापमान भी जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली, यूपी, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ और राजस्थान में सामान्य से 3-7 डिग्री तक ऊपर दर्ज किया गया। मौसम वैज्ञानिकों ने उत्तर पश्चिम भारत में अगले दो दिन तापमान 1-2 डिग्री तक बढ़ने के साथ 39 डिग्री पहुंचने की भविष्यवाणी की है। जो अगले चार दिन इसी तरह बना रहेगा।
मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि कोई बड़ा पश्चिमी विक्षोभ आए बिना तापमान में कोई बड़ी गिरावट नहीं आएगी। राजस्थान व मप्र में चल रही लू के कारण दिल्ली-एनसीआर में भी उसी तह के हालात बन रहे हैं। दिल्ली में मंगलवार को दिन का तापमान 38 डिग्री दर्ज किया गया, जो इस सीजन का सबसे गर्म दिन है। पालम और आयानगर केंद्र पर तापमान इससे भी ऊपर 39 डिग्री तक पहुंच गया। मार्च में पिछले 10 साल का दूसरा सबसे गर्म दिन है। इससे पहले मार्च महीने में न्यूनतम तापमान 2010 में 38 डिग्री से ऊपर 39.2 डिग्री तक पहुंचा था। इस साल 23 मार्च को पिछले दस साल में मार्च के सबसे गर्म दिन का रिकार्ड 37.4 डिग्री के साथ बना था। जो अब 28 मार्च के नाम 38 डिग्री के साथ दर्ज हो गया। मौसम विभाग के अनुसार रात का तापमान भी जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में सामान्य से 5 डिग्री या उससे भी ज्यादा ऊपर रहा तो दिल्ली, हरियाणा, चंडीगढ़ में 3-5 डिग्री तक ऊपर दर्ज किया गया। दिल्ली का न्यूनतम तापमान सामान्य से 4 डिग्री ऊपर 22.6 डिग्री दर्ज किया गया। हिमाचल में मार्च में ही गर्म मौसम ने पिछले सात साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। मंगलवार को ऊना में सात साल और शिमला में छह साल बाद मार्च में सबसे अधिक पारा रिकॉर्ड हुआ है। ऊना में अधिकतम तापमान 37.2 डिग्री और राजधानी शिमला में 25.6 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है। ऊना में इससे पहले 31 मार्च 2010 को अधिकतम तापमान 39.4 और शिमला में 15 मार्च 2011 को 25.1 डिग्री दर्ज किया गया था। राजधानी में मार्च महीने में सबसे अधिक तापमान वर्ष 2004 में रिकॉर्ड किया गया था। 27 मार्च 2004 को शिमला का पारा 27.2 डिग्री पहुंच गया था।

No comments:

Post a Comment

Pages