आजम खान ऐसे नेता कि उनका नाम ले लूं तो नहाना पड़ता है: शिवराज - .

Breaking

Monday, 13 February 2017

आजम खान ऐसे नेता कि उनका नाम ले लूं तो नहाना पड़ता है: शिवराज


कानपुर: मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को कटाक्ष करते हुए कहा कि आजम खान ऐसे नेता हैं कि अगर उनका नाम ले लूं, तो नहाना पड़ता है.’ शिवराज ने पुखरायां में हुए ट्रेन हादसा के बारे में कहा कि वह मप्र से यहां घायलों को देखने आ गए थे, लेकिन यूपी के मुख्यमंत्री लखनऊ में रहने के बावजूद यहां नहीं आए थे. चौहान ने सपा नेता आजम खान का नाम लेते हुए तंज किया, ‘उनका (आजम का) नाम ले लूं तो नहाना पड़ता है. उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार सांप्रदायिक आधार पर काम करती है और भेदभाव करती है. यहां की सरकार वोट बैंक बनाने के चक्कर में तुष्टीकरण की राजनीति करती है, तब ही कानून-व्यवस्था खराब होती है.
उन्होंने दावा किया कि उप्र में भाजपा की सरकार बनने वाली है और फिर यहां का विकास भी भाजपा के अन्य राज्यों की तरह होगा. मप्र के मुख्यमंत्री चौहान सोमवार को सीसामउ विधानसभा क्षेत्र में भाजपा के प्रत्याशी के समर्थन में चुनाव प्रचार करने आए थे. उन्होंने कहा कि जब वह सैफई हवाई अड्डे पर उतरे तो वहां की चमक दमक देखकर दंग रह गए, जबकि कुछ दिनों पहले जब कानपुर आए थे तो यहां मालूम हुआ था कि यहां केवल एयरफोर्स का हवाई अड्डा है. उन्होंने कहा कि पूरे देश में मोदी लहर चल रही है, इसलिए अखिलेश और राहुल डर की वजह से एक हो गए हैं. शिवराज ने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री बनने के बाद सबसे पहले मप्र से डाकुओं के खात्मे का काम किया. हाल में सिमी के आतंकवादियों ने जेल से भागने का काम किया था. उनका अंजाम देखकर अब जेल में अपराधी कहते है कि जेलर साहब हमारी जेल में एक ताला और डाल दो. अगर सरकार सख्त हो तो अपराधियों के हौसले पस्त हो जाते हैं. उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार आई तो गुंडे या तो जेल के अंदर होंगे या प्रदेश छोड़कर भाग जाएंगे. चौहान ने कहा कि विकास की योजनाएं उप्र में सरकार बनने पर लाई जाएंगी. उन्होंने समाजवादी पार्टी की सरकार पर आरोप लगाया कि वह प्रधानमंत्री मोदी की सरकारी योजनाओं को लागू करने से इसलिए डरती रही कि कहीं इससे मोदी सरकार का नाम न हो जाए.

No comments:

Post a Comment

Pages