[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

नगालैंड में महिला आरक्षण पर भड़की हिंसा


कोहिमा: नगालैंड में नगर निकाय चुनावों में महिलाओं को 33% आरक्षण दिए जाने के खिलाफ विरोध प्रर्दशन ने गुरुवार को हिंसात्मक रूप ले लिया और प्रदर्शनकारियों ने दीमापुर स्थित मुख्यमंत्री टीआर जेलिआंग के निजी आवास और कोहिमा नगर परिषद की इमारत को आग के हवाले कर दिया. हालांकि इस हमले के वक्त मुख्यमंत्री राजधानी कोहिमा स्थित अपने सरकारी आवास में थे और वह पूरी तरह सुरक्षित हैं. वहीं हालात बेकाबू होता देख नगालैंड पुलिस की मदद के लिए सेना की पांच टुकड़ियां भेजी गई हैं.
वहीं नगालैंड के डीजीपी ने शुक्रवार को बताया कि दीमापुर में हालात अब काबू में हैं. उन्होंने साथ ही बताया कि कोहिमा में हिंसा की कुछ घटनाएं हुई हैं, लेकिन हालात वहां भी काबू कर लिए गए हैं. दरअसल यह हिंसा उस वक्त भड़की जब विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस से झड़प में दो युवकों की मौत हो गई. इससे गुस्साई भीड़ ने कोहिमा स्थित मुख्यमंत्री आवास को घेर लिया है और कई सरकारी भवनों में आग लगा दी है. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय और आबकारी विभाग के कार्यालय को भी हिंसक भीड़ ने आग के हवाले कर दिया. ये लोग जनजातीय समूहों के विरोध के बावजूद चुनाव के लिए आगे बढ़ने को लेकर मुख्यमंत्री टीआर जेलिआंग और उनकी पूरी कैबिनेट का इस्तीफा मांग रहे थे. इससे पहले दिन में नगालैंड ट्राइब्स एक्शन कमेटी ने जेलिआंग और उनकी कैबिनेट को शाम चार बजे तक इस्तीफा देने, दीमापुर पुलिस आयुक्त को हटाने और चुनाव को अवैध एवं अमान्य घोषित करने का अल्टीमेटम दिया था. एनटीएसी ने इस मामले में राजभवन को एक ज्ञापन भी सौंपा है. हालांकि, राज्यपाल पीबी आचार्य इटानगर में हैं. उनके पास अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल का भी प्रभार है. एनटीएसी के दबाव में जेलिआंग ने चुनाव प्रक्रिया को अमान्य घोषित कर दिया और दीमापुर के पुलिस आयुक्त एवं पुलिस उपायुक्त का भी तबादला कर दिया ताकि मंगलवार को हुई गोलीबारी की घटना की निष्पक्ष जांच हो सके. इस घटना में दो प्रदर्शनकारी युवक मारे गए थे जिसके बाद से राज्य में रोष पनप रहा है. हालांकि मुख्यमंत्री की घोषणाएं चार बजे की समय सीमा समाप्त होने के पहले ही हुई थी फिर भी भीड़ हिंसक हो गई. नगालैंड के दिमापुर और लोंगलेंग जिलों में मंगलवार रात से पुलिस और भीड़ के बीच हुई झड़पों में दो लोगों की मौत हो गई और कई लोग घायल हो गए थे जबकि लोगों ने सरकारी संपत्तियों को भी भारी नुकसान पहुंचाया था. राज्य सरकार के एक अधिकारी के मुताबिक दिमापुर में मुख्यमंत्री टीआर जेलिआंग के निजी आवास के पास जमा भीड़ को पुलिस ने रात करीब साढ़े नौ बजे हटाने का प्रयास किया था. इस दौरान दोनों पक्षों के बीच हुई झड़प में दो युवकों की मौत हो गई थी जबकि कई लोग घायल हो गए थे.

About Author saloni

i am proffesniol blogger

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search