गुरमेहर मामले में बबीता फोगाट ने कहा जो देश के लिए ना बोले उसके लिए क्या बोलना - .

Breaking

Monday, 27 February 2017

गुरमेहर मामले में बबीता फोगाट ने कहा जो देश के लिए ना बोले उसके लिए क्या बोलना


नई दिल्ली: गुरमेहर कौर मामले में अब पहलवान बबीता फोगाट ने भी ट्वीट कर दंगल की शुरुआत कर दी है. बबीता ने गुरमेहर पर कहा है, ‘जो अपने देश के हक में बात नहीं कर सकती, उसके हक में बात करना ठीक है क्या?’
दिल्ली के रामजस कॉलेज से शुरू हुआ छात्र विवाद देशभक्ति, कानून, मीडिया में बहस के रास्तों से गुजरता हुआ सोशल मीडिया पर विरोध और समर्थन के साथ धमकियों तक आ पहुंचा. फिर क्रिकेटर रहे सहवाग और रणदीप हुड्डा के ट्वीट और शहीद मनदीप सिंह की बेटी गुरमेहर कौर कैंपेन पर चर्चा तक पहुंचा. ट्विटर विवाद के अखाड़े में बबीता की एंट्री तब हुई जब महिला पत्रकार राणा आयूब ने एक यूजर के ट्वीट पर गुरमेहर मामले में रणदीप हुड्डा पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया कि हरियाणा के हैं ना, महिलाओं के उत्थान की कोशिश कर रहे हैं. इसके बाद ट्विटर पर एक दंगल की शुरुआत हो गई. राणा आयूब को जवाब देते हुए बबीता ने कहा, ‘हरियाणा की ही हैं हम फोगाट बहनें भी. क्या जानती हैं आप हरियाणा के बारे में.’ एक यूजर ने बबीता फोगाट और रणदीप हुड्डा को टैग करते हुए कहा था कि हरियाणा की लड़कियों ने हमें गर्व करने का मौका दिया, लेकिन हरियाणा के मर्दों ने देश को बहुत शर्मिंदा किया. इस ट्वीट को राणा आयूब ने रिट्वीट किया. राणा ने बबीता से कहा, ‘उम्मीद है कि आप जैसी हरियाणा की सफल खिलाड़ी गुरमेहर ट्वीट्स के हक में भी बात करेंगी. इस पर बबीता ने जवाब दिया, ‘जो अपने देश के हक में बात नहीं कर सकती, उसके हक में बात करना ठीक है क्या?’ बबीता के इस ट्वीट की राणा आयूब ने आलोचना करते हुए कहा कि गुरमेहर कौर पर बबीता फोगाट की ऐसी सोच है. हमारे खिलाड़ियों को ना जाने क्या हो गया है. एक सम्माननीय महिला से शहीद की बेटी के लिए ऐसी भाषा का इस्तेमाल निंदनीय है.

No comments:

Post a Comment

Pages