विदिशा में देश के पहले पोस्ट-ऑफिस पासपोर्ट सेवा केन्द्र का शुभारंभ - .

Breaking

Saturday, 25 February 2017

विदिशा में देश के पहले पोस्ट-ऑफिस पासपोर्ट सेवा केन्द्र का शुभारंभ


विदिशा: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विदिशा में भारत के पहले पोस्ट-ऑफिस पासपोर्ट सेवा केन्द्र का शुभारंभ किया। इसके शुरू होने से विदिशा सहित रायसेन, गुना, अशोकनगर, सागर और दमोह जिले के नागरिकों को अब पासपोर्ट बनवाने के लिये भोपाल नहीं जाना पड़ेगा। यह लघु केन्द्र पासपोर्ट सेवा केन्द्र के रूप में कार्य करेगा। आवेदन-पत्र की जाँच के साथ ही उसकी स्वीकृति भी एक ही दिन में पूरा करने का प्रयास किया जायेगा। शेख सोहित और पवन सोनी ने आज इस कार्यालय के माध्यम से अपने पासपोर्ट बनवाये।
मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र शासन के सहयोग से मध्यप्रदेश को ऐसी सुविधाएँ मिल रही हैं, जिनके बारे में कुछ वर्ष पूर्व सोचना भी मुश्किल था। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के आत्मीय सहयोग से मप्र में पासपोर्ट सुविधा का विस्तार हुआ है। चौहान ने कहा कि जब अटल बिहारी वाजपेयी विदेश मंत्री थे, उस समय मप्र को पहले पासपोर्ट कार्यालय की सुविधा मिली थी। चौहान ने कहा कि पहले पासपोर्ट बनवाने के लिये 42 दिन की प्रतीक्षा-सूची थी, जो अब घटकर 3 दिन की रह गयी है। इसे और कम करने के प्रयास जारी हैं। चौहान ने बताया कि विदिशा में मेडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। साथ ही विदिशा के पास औद्योगिक केन्द्र का भी निर्माण हो रहा है। श्री चौहान ने उद्योगपतियों से आग्रह किया कि वे इस क्षेत्र में भी उद्योग लगायें। चौहान ने कहा कि अकेले विदिशा जिले में ओला-वृष्टि प्रभावित किसानों के खातों में 270 करोड़ की राहत और 306 करोड़ रुपये की फसल बीमा राशि जमा करवायी जा रही है। पिछले दिनों मुख्यमंत्री इंदौर में पासपोर्ट लघु सेवा केन्द्र के शुभारंभ समारोह में शामिल हुए थे। इसके साथ ही जबलपुर, ग्वालियर और सतना में भी लघु पासपोर्ट कार्यालय खोले जायेंगे। चौहान ने विदिशा में पासपोर्ट कार्यालय आरंभ करने में आवश्यक सुविधाएँ जुटाने के लिये मप्र के पोस्ट मास्टर जनरल हक को धन्यवाद दिया। सेवा केन्द्र के शुभारंभ अवसर पर उद्यानिकी राज्य मंत्री सूर्यप्रकाश मीणा, सांसद लक्ष्मीनारायण यादव, विधायक कल्याण सिंह ठाकुर और वीर सिंह पवार भी उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment

Pages