मोदी और नीतीश ने एक-दूसरे की जमकर तारीफ की - .

Breaking

Thursday, 5 January 2017

मोदी और नीतीश ने एक-दूसरे की जमकर तारीफ की


पटना: गुरु गोविंद सिंह के 350वें प्रकाश उत्सव पर पटना साहिब में पीएम नरेंद्र मोदी ने पंजाबी भाषा में गुरु गोविंद सिंह के प्रकाश उत्सव की बधाई दी। इसके साथ ही कहा कि दुनिया भर में प्रकाश पर्व मनाने की योजना है। उल्लेखनीय है कि प्रकाश उत्सव की छटा में पटना शहर नहाया हुआ है। सिखों के 10वें गुरु गुरु गोविंद सिंह की 350वीं जयंती के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पटना पहुंचे, जहां एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनका स्वागत किया। इसके बाद दोनों प्रकाश उत्सव से जुड़े कार्यक्रम में हिस्सा लेते दिखाई दिए।
मंच पर एक-दूसरे के साथ रह चुके लेकिन अब एक दूसरे के विरोधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार साथ-साथ थे। खास बात यह रही कि दोनों ने एक-दूसरे की जमकर तारीफ की। नीतीश ने पहले बोलते हुए गुजरात में शराबबंदी को लेकर पीएम मोदी की तारीफ की। उन्होंने कहा कि पीएम 12 साल तक गुजरात के मुख्यमंत्री रहे और गुजरात में शराब को बैन किया। जब पीएम का मौका आया तब उन्होंने भी नीतीश के तारीफों के पुल बांध दिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खुद अपनी देख-रेख में प्रकाश उत्सव की तैयारियां करवाई हैं। साथ ही शराबबंदी पर भी पीएम ने अपना समर्थन जताया। उन्होंने कहा कि शराबबंदी का काम सिर्फ नीतीश का नहीं सभी का है। अगर सब साथ देंगे तो बिहार देश को आगे बढ़ाने में बड़ा योगदान देगा। पीएम मोदी सुरक्षा कारणों से गुरु गोविंद सिंह के जन्म स्थान हरमिंदर साहिब नहीं जा पाएंगे। प्रकाश उत्सव कार्यक्रम में पंजाब के सीएम प्रकाश सिंह बादल, बिहार के सीएम नीतीश कुमार सहित कई राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हुए। प्रधानमंत्री के आने के चलते पटना की सुरक्षा बढ़ा दी गई। एयरपोर्ट से लेकर गांधी मैदान तक चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा की मद्देनज़र पैनी निगाह रखी जा रही है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुरुवार को गुरु गोबिंद सिंह को उनकी 350वीं जयंती पर श्रद्धांजलि दी। सोनिया ने एक बयान में कहा, गुरु गोबिंद सिंह केवल महान ‘खालसा’ के निर्माता ही नहीं बल्कि एक महान आध्यात्मिक गुरु, योद्धा, कवि और दार्शनिक भी थे। उन्होंने अपना पूरा जीवन वंचितों के अधिकारों की रक्षा के लिए कुर्बान कर दिया। सोनिया ने कहा, उन्होंने अन्याय, अत्याचार और सामाजिक मतभेद के खिलाफ लड़ाई लड़ी। यह समानता के आदर्शों के लिए खुद को पुन: समर्पित करने का पूरी मानवता को प्रेरित करने के लिए ईमानदार, सच्चा और धार्मिक जीवन जीने की शुरुआत का दिन है।

No comments:

Post a Comment

Pages