[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

नागपुर में सीरीज बचाने उतरेगी टीम इंडिया


नागपुर: अपनी सरजमीं पर पिछले एक वर्ष में पहली बार टीम इंडिया कोई सीरीज हारने की कगार पर है। इंग्लैंड के खिलाफ रविवार को होने वाले दूसरे टी-20 मैच में जब मेजबान टीम मैदान पर उतरेगी तो उसका एकमात्र लक्ष्य जीत हासिल करना होगा। विदर्भ क्रिकेट संघ स्टेडियम में होने वाले इस मैच में भारतीय टीम जीत हासिल कर सीरीज में वापसी करना चाहेगी। हालांकि यह मैदान भारत के लिए भाग्यशाली नहीं रहा और यहां भारत अभी तक एक भी टी-20 मुकाबला नहीं जीत पाया।भारत ने अभी तक दो मैच खेलें है लेकिन दोनों में ही हार का सामना करना पड़ा है।
विराट कोहली की कप्तानी में पहली बार भारतीय टीम पर सीरीज में हार का खतरा मंडरा रहा है। टेस्ट और एकदिवसीय में मात खाने वाली इंग्लैंड ने कानपुर में खेला गया पहला मैच जीतकर तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली है। अब मेहमान के पास पहली बार दौरे पर बढ़त है जिसे भुनाने में वह कोई कसर नहीं छोड़ना चाहेगा। रनों का अंबार लगाने वाले भारतीय बल्लेबाज पहले मैच में प्रभावित करने में नाकाम रहे। पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने 36 रन और सुरेश रैना ने 34 रनों की पारी खेल टीम को 147 के स्कोर तक पहुंचाया था। इसे देखते हुए टीम में बदलाव संभव है। सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल एकदिवसीय सीरीज के बाद कानपुर में भी बल्ले की खामोशी नहीं तोड़ पाए।कोहली और मुख्य कोच अनिल कुंबले उनके स्थान पर युवा ऋषभ पंत को पदार्पण का मौका दे सकते हैं। विराट ने अच्छी शुरुआत की थी, लेकिन वह उसे आगे नहीं बढ़ा पाए थे।युवराज का बल्ला भी नहीं चला। पहले मैच में प्रभावित करने में नाकाम रहे मनीष पांडे को भी बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है। ऐसे में मंदीप सिंह, अंजिक्य रहाणे और पंत में से दो खिलाड़ियों को सलामी बल्लेबाजी का मौका मिल सकता है और कोहली फिर से तीसरे क्रम पर उतर सकते हैं।पहले मैच में कोहली ने राहुल के साथ पारी का आगाज किया था। गेंदबाजी मेजबानों के लिए शुरू से ही चिंता का विषय रही है।इंग्लैंड के शीर्ष क्रम ने हमेशा ही भारतीय गेंदबाजों की अच्छी खबर ली है।रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा की गैर-मौजूदगी में परवेज रसूल और लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने पहले मैच में स्पिन की जिम्मेदारी संभाली थी।चहल शुरुआती सफलता के बावजूद इंग्लिश बल्लेबाजों को रन बनाने से रोक नहीं सके। डेथ ओवरों के विशेषज्ञ युवा तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने भी खूब रन लुटाए।उनकी जगह भुवनेश्वर कुमार अनुभवी आशीष नेहरा का साथ दे सकते हैं। मेहमानों के लिए पिछले मैच में सब कुछ अच्छा रहा जिसकी तारीफ कोहली ने भी मैच के बाद की।गेंदबाजों ने रनों पर अंकुश लगाया तो बल्लेबाजों ने रन जुटाए। कप्तान मोर्गन को टीम से इसी प्रदर्शन की उम्मीद होगी।उसके बल्लेबाज किसी भी लक्ष्य को हासिल करने का माद्दा रखते हैं, यह बात विपक्षी टीम भी जान चुकी है। दोनों टीमें बेशक टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करना चाहेंगी क्योंकि लक्ष्य का पीछा करने में दोनों टीमें माहिर हैं।आंकड़ों के लिहाज से विदर्भ क्रिकेट संघ मैदान भारत के लिए अच्छा नहीं रहा है।भारत ने यहां दो टी-20 मैच खेले हैं और दोनों में उसे हार मिली है। पिच की बात करें तो यह बल्लेबाजों की मददगार साबित हो सकती है।

About Author saloni

i am proffesniol blogger

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search