पहाड़ों पर जोरदार बर्फबारी की संभावना - .

Breaking

Monday, 2 January 2017

पहाड़ों पर जोरदार बर्फबारी की संभावना


नई दिल्ली: उत्तर-पश्चिम भारत में अगले 24 से 48 घंटे में एक वेस्टर्न डिस्टरबेंस दस्तक देने जा रहा है। इस वेदर सिस्टम के चलते जम्मू कश्मीर के तमाम इलाकों में 4 जनवरी को मौसम बदल जाएगा। मौसम विभाग का अनुमान है कि इस वेस्टर्न डिस्टरबेंस के चलते जम्मू कश्मीर में करगिल, लेह, कश्मीर और जम्मू सभी इलाकों में घने बादलों के बीच रुक-रुक कर बारिश का सिलसिला शुरू हो जाएगा और इसी के साथ ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फवारी का दौर भी शुरू हो जाएगा।
इसके बाद 6 तारीख से एक दूसरा वेस्टर्न डिस्टरबेंस दस्तक दे देगा। यह वेदर सिस्टम पहले वाले से और ज्यादा ताकतवर होगा इसकी वजह से जम्मू कश्मीर और हिमाचल के साथ-साथ उत्तराखंड के तमाम इलाकों में बारिश और जबरदस्त बर्फबारी होने की संभावना जताई जा रही है। खास बात 4 जनवरी से शुरू होने जा रहा बारिश और बर्फबारी का यह दौर अगले 5 से 6 दिनों तक चलेगा. ऐसा कहा जा रहा है कि जम्मू कश्मीर में दस्तक देने जा रहा यह वेदर सिस्टम काफी ताकतवर है और इसकी वजह से कई इलाकों में भारी से बहुत भारी हिमपात होने की आशंका है। मौसम के जानकारों का कहना है 4 तारीख से हिमाचल के तमाम इलाकों में अच्छी बर्फबारी होने की संभावना है। ऐसा अनुमान है कि 4 तारीख को चंबा लाहौल, स्पीति, मनाली, कुल्लू, किन्नौर के आसपास मौसम बदल जाएगा निचले इलाकों में बारिश ऊंचाई वाले इलाकों में जोरदार पर बारिश होने का अनुमान है। बारिश और बर्फबारी का यह दौर 5 और 6 तारीख तक चलेगा। 6 तारीख से आने जा रहा दूसरा वेस्टर्न डिस्टरबेंस 7 जनवरी, 8 जनवरी और 9 जनवरी तक चलेगा। दूसरे वेस्टर्न डिस्टरबेंस की वजह से 7 जनवरी से लेकर 9 जनवरी तक हिमाचल के ज्यादातर इलाकों में अच्छी बारिश और जोरदार बर्बादी होगी। उधर उत्तराखंड की बात करें तो यहां पर 4 तारीख से लेकर 6 तारीख तक कई इलाकों में छिटपुट बारिश और ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी होने का अनुमान है। लेकिन यहां पर इस दौरान ज्यादातर इलाकों में मौसम सूखा रहने के अंदेशा जताया जा रहा है। लेकिन उत्तराखंड में 7 जनवरी से लेकर 10 जनवरी तक ज्यादातर इलाकों में बारिश और बर्फबारी का अंदेशा है। मौसम विभाग का अनुमान इस दौरान कई इलाकों में भारी बारिश हो सकती है। उत्तर पश्चिम हिमालय के तीनों राज्यों में मौसम करवट लेगा और अच्छी बर्फबारी होगी तो मैदानी इलाके भी मौसम की मार से अछूते नहीं रह जाएंगे। ऐसा अनुमान है कि 7 तारीख से पंजाब हरियाणा के साथ-साथ दिल्ली एनसीआर के तमाम इलाकों में 8 जनवरी तक बादलों की आवाजाही के बीच बारिश होने का अंदेशा है। इस बारिश के चलते दिन के तापमान में गिरावट देखी जाएगी लेकिन रात के तापमान बढ़ जाएंगे। मौसम की जानकारी का कहना है कि जनवरी में हो रही बारिश के चलते उत्तर भारत के तापमान में बहुत ज्यादा गिरावट होने का अनुमान नहीं है इसके उलट यहां पर न्यूनतम तापमान और अधिकतम तापमान सामान्य से ऊपर ही बने रहेंगे। इसकी वजह यह बताई जा रही है की वेस्टर्न डिस्टरबेंस के चलते बारिश की संभावना तो जरूर बनी है लेकिन पूरब से चल रही हवाएं अपने साथ बंगाल की खाड़ी की नमी लेकर आ रही है जिसके चलते पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार के तमाम इलाकों में बादलों की आवाजाही के बीच छिटपुट बारिश की संभावना बन रही है। मौसम के इस मिजाज के बीच जनवरी की जबरदस्त ठंड इस बार लगता है लोगों को नहीं सताएगी।

No comments:

Post a Comment

Pages