[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

अनंत कुमार ने भोपाल में डिजी धन मेले का किया शुभारंभ


भोपाल: केन्द्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री अनंत कुमार ने डिजी धन मेले में मप्र में 200 प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि केन्द्र खोलने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इसके लिये मप्र के साथ एमओयू किया जायेगा। वे यहाँ स्थानीय बिट्टन मार्केट में डिजी धन मेले का शुभारंभ कर रहे थे। प्रदेश में डिजी धन मेलों की श्रंखला की शुरूआत भोपाल से हो रही है। इसके बाद इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर और देवास में मेले लगेंगे। मेलों का उद्देश्य आम लोगों को कैशलेस लेन-देन के लिये प्रोत्साहित करना, कैशलेस लेन-देन उपकरण और प्रोडक्ट के संचालन के बारे में जानकारी देना है।
कुमार ने कहा कि मप्र जन-कल्याणकारी योजनाओं का तीर्थ बन चुका है। मुख्यमंत्री चौहान को अन्य राज्यों को प्रेरित करने के लिये सुशासन पर प्रतिनिधि-मंडल लेकर जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि चौहान पूरे देश में पहले कैशलेस मुख्यमंत्री बन चुके हैं। अब से 12 साल पहले जो मप्र बीमारू राज्य था अब सुचारू राज्य बन गया है। आज मप्र देश में पहले नंबर पर है। लगातार चार बार कृषि कर्मण अवार्ड मिल चुका है। किसानों को एक लाख रूपये देकर 90 हजार रूपये लौटाने जैसी ऋण सुविधा मिली है। आज 95 प्रतिशत मप्र कैशलेस हो चुका है और अन्य राज्यों के लिये रोल मॉडल बन गया है। उन्होंने कहा कि यह मुख्यमंत्री की ईमानदारी, मन की शुद्धता, प्रामाणिकता और लोक सेवा करने की प्रतिबद्धता से संभव हुआ है। वे स्वयं लोक सेवा के प्रतीक बन गये हैं। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि बैंगलुरू को एशिया की सिलिकॉन वेली माना जाता है लेकिन अब मप्र आईटी स्टेट बन गया है। उन्होंने बताया कि देश में खाद की कोई कमी नहीं है। नीम कोटेड यूरिया आसानी से मिल रहा है। उन्होंने लोगों का आव्हान किया कि वे अपना नजरिया बदले और ज्यादा से ज्यादा कैशलेस लेन-देन करें। केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने डिजी धन योजना को अनूठी योजना बताते हुए कहा कि पूरे प्रदेश में सूचना प्रौदयोगिकी का उपयोग बढ़ रहा है। उन्होंने प्रधानमंत्री के निर्णय को क्रांतिकारी बताते हुए कहा कि गरीब और ईमानदार लोगों ने इसका स्वागत किया है। मुख्यमंत्री चौहान ने अनंत कुमार के प्रति आभार व्यक्त किया कि उनके प्रयासों से खाद की कीमतें नहीं बढ़ी और खाद के लिये लंबी लाईन लगना बंद हो गई। चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी अब वैश्विक नेता बन चुके हैं। उन्होंने कहा कि देशभक्ति के लिये जज्बा रखने वाले और लोक-कल्याण के लिये सोचने वाले प्रधानमंत्री ही नोटबंदी जैसा ऐतिहासिक निर्णय ले सकते हैं। चौहान ने कहा कि नकली नोट, भ्रष्टाचार, काला धन और आतंकवाद पर नियंत्रण रखने के लिये नोटबंदी का निर्णय लिया गया। उन्होंने कहा कि कैशलेस लेन-देन से भ्रष्टाचार की संभावना खत्म की जा सकती है। उन्होंने बताया कि प्रदेश की मण्डियों में 95 प्रतिशत लेन-देन कैशलेस हो गया है। पैसे सीधे किसानों के खाते में चले जाते हैं और कैशलेस लेन-देन से सरकार को टैक्स भी मिल जाता है जिसका उपयोग गरीबों के लिये योजनाएँ बनाने में होता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2022 तक हर जरूरतमंद के पास आवास सुविधा होगी। पीओएस मशीन पर टैक्स को समाप्त कर दिया गया है। उन्होंने लोगों का आव्हान किया कि वे प्रधानमंत्री श्री मोदी के डिजिटल इंडिया अभियान में भागीदारी करें और देश की अर्थ-व्यवस्था को गतिशील बनायें।

About Author saloni

i am proffesniol blogger

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search