बीसीसीआई में बदलावों पर सुप्रीम कोर्ट आज सुना सकता है फैसला - .

Breaking

Monday, 2 January 2017

बीसीसीआई में बदलावों पर सुप्रीम कोर्ट आज सुना सकता है फैसला


नई दिल्ली: जिस फैसले का इंतजार देश भर के करोड़ों क्रिकेट फैंस पिछले लंबे समय से कर रहे हैं। उस फैसले की घड़ी आ गई है। सुप्रीम कोर्ट सोमवार को बीसीसीआई पर अपना फैसला सुना सकता है। पिछले डेढ़ साल से सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है। ऐसे में उम्मीद की जा रही है चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर रिटायर होने से पहले बीसीसीआई पर अपना फैसला सुना सकते हैं।
लोढ़ा कमेटी की सिफारिशें मानने को लेकर कमेटी और बीसीसीआई के बीच लंबे समय से विवाद चल रहा है। बीसीसीआई ने लोढ़ा कमेटी की सभी सिफारिशें नहीं मानी है। ऐसे में आज सुप्रीम कोर्ट बोर्ड के तमाम अधिकारियों को हटाने का निर्देश दे सकता है। जस्टिस लोढ़ा कमेटी की सिफारिश पर पूर्व केंद्रीय गृह सचिव जीके पिल्लई को पर्यवेक्षक नियुक्त किया जा सकता है और लोढ़ा कमेटी की सारी सिफारिशों का पालन करने का ऑर्डर भी जारी हो सकता है। बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर के लिए साल की शुरुआत से ही मुश्किलें बढ़ सकती हैं। पिछली सुनवाई के दौरान कोर्ट ने बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर को झूठी गवाही देने के लिए फटकार लगाई थी। कोर्ट ने सख्त लहजे में कहा था। अनुराग ठाकुर पर अवमानना का केस चलाया जा सकता है, अगर बिना शर्त माफी नहीं मांगी तो उन्हें जेल भी जाना पड़ सकता है। अनुराग पर आरोप है कि उन्होंने कोर्ट से झूठ बोला था कि सुधार प्रक्रिया में बाधा पहुंचाने की कोशिश की। हालांकि अनुराग ने इन आरोपों से इनकार किया है। इसी साल पिछले महीने अक्टूबर में सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के वित्तीय अधिकार सीमित करते हुए लोढ़ा समिति से एक स्वतंत्र ऑडिटर नियुक्त करने को कहा था। बीसीसीआई के वित्तीय अधिकार सीमित करने का आदेश देते हुए बोलियों और ठेकों के लिए वित्तीय सीमा का निर्धारण किया था। न्यायालय ने लोढ़ा समिति से कहा है कि वह एक स्वतंत्र ऑडिटर नियुक्त करें, जो बीसीसीआई के सभी वित्तीय लेन-देन की समीक्षा करेगा।

No comments:

Post a Comment

Pages