पद्मावती-अलाउद्दीन खिलजी के बीच फिल्म में प्रेम कहानी नहीं: भंसाली - .

Breaking

Saturday, 28 January 2017

पद्मावती-अलाउद्दीन खिलजी के बीच फिल्म में प्रेम कहानी नहीं: भंसाली


मुंबई: फिल्म ‘पद्मावती’ में ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़मरोड़ कर पेश करने की बात को बेबुनियाद करार देते हुए निर्देशक संजय लीला भंसाली ने बताया कि जिस सीन को लेकर करणी सेना को ऐतराज है वो सीन फिल्म में नहीं है।
दरअसल करणी सेना का आरोप है कि भंसाली ने तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की है। फिल्म में पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी के बीच प्रेम संबंध दिखाया जा रहा है, जबकि पद्मावती ने खुद को खिलजी से बचाने के लिए हजारों अन्य महिलाओं के साथ जौहर (आग में कूदकर जान दे देना) कर लिया था। पूरे विवाद पर सफाई देते हुए भंसाली ने कहा कि किसी की भावना को आहत करना उनका इरादा नहीं है। फिल्म में पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी के बीच कोई प्रेम संबंध जैसा सीन नहीं है, फिर किस बात को लेकर विवाद हो रहा है ये उन्हें समझ में नहीं आ रहा है। उन्होंने कहा कि ऐतिहासिक घटनाओं पर फिल्म बनाने से पहले वो तमाम तथ्यों का बारीकी से अध्ययन करते हैं, फिर आगे का काम शुरू करते हैं। वो सभी धर्मों का सामान आदर करते हैं। किसी की भावना को आहत कर फिल्म बनाने के बारे में उन्होंने कभी नहीं सोचा है।भंसाली ने कहा कि उनकी हमेशा कोशिश रही है कि फिल्म के माध्यम से लोगों तक ऐतिहासिक घटनाओं की जानकारी दी जाए। वहीं भंसाली ने घटना के एक दिन बाद शनिवार को जयपुर में चल रही फिल्म की शूटिंग रद्द कर दी और कहा है कि वह फिर कभी जयपुर में किसी फिल्म की शूटिंग नहीं करेंगे। फिल्म में मुख्य भूमिकाएं निभा रहे अभिनेता रणवीर सिंह और अभिनेत्री दीपिका पादुकोण ने करणी सेना के आरोपों को मिथ्या करार देते हुए कहा कि भंसाली ऐतिहासिक तथ्यों से तोड़मरोड़ कर ही नहीं सकते। वहीं केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने संजय लीला भंसाली के साथ हुई मारपीट की घटना की निंदा करते हुए कहा कि फिल्म की शूटिंग को बाधित करना सही नहीं है। उन्होंने कहा कि किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने का अधिकार नहीं है, मंत्री ने कहा कि वो इस मुद्दे को लेकर वसुंधरा राजे से बात करके जरूरी कदम उठाने को कहा है। करणी सेना की ओर से किए गए हमले के बाद शनिवार को पूरा बॉलीवुड एकजुट नजर आया। सिनेमा जगत की हस्तियों ने एक सुर में इसकी निंदा करते हुए दोषियों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई की मांग की है। ‘फिल्म एंड टेलीविजन प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया लिमिटेड’ ने घटना की निंदा करते हुए भारत सरकार से अराजक तत्वों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग की है। गौरतलब है कि शुक्रवार को दोपहर 12 बजे के आसपास जयगढ़ किले में ‘पद्मावती’ की शूटिंग के दौरान करणी सेना के कुछ सदस्य वहां पहुंचकर विरोध जताने लगे। उन्होंने भंसाली और यूनिट के लोगों के साथ बदसलूकी की।करणी सेना के सदस्यों ने भंसाली के साथ मारपीट की, उनके बाल खींचे और शर्ट भी फाड़ डाली।

No comments:

Post a Comment

Pages