शीतलहर से ठिठुरा उत्तर भारत - .

Breaking

Sunday, 25 December 2016

शीतलहर से ठिठुरा उत्तर भारत

नई दिल्ली: कश्मीर से लेकर लखनऊ तक समूचा उत्तर भारत शीतलहर की चपेट में आ चुका है। हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में जहां मौसम की पहली बर्फबारी के साथ सफेद क्रिसमस का आगाज हुआ। हरियाणा और पंजाब मं3 बारिश के कारण पारा सामान्य से नीचे आ गया। कोहरे और कम दृश्यता के कारण दिल्ली आने-जाने वाली 103 ट्रेनें लेट रहीं जबकि 27 ट्रेनों की समय सारिणी परिवर्तित की गई।
हिमाचल में क्रिसमस का आगाज शिमला और आसपास के क्षेत्रों में हल्की बर्फबारी के बाद बारिश की फुहारों से हुआ। वहीं कुफरी, फागू और नारकंडा जैसे पर्यटन स्थलों में भी पर्यटकों ने बर्फबारी का लुत्फ उठाया। मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि हिमाचल में क्रिसमस के मौके पर 25 साल बाद पहली बार बर्फबारी हुई है। किन्नौर के कल्पा में 7 सेमी बर्फबारी हुई जबकि कुफरी और नारकंडा में हिमपात से क्रमश: 2 सेमी और 5 सेमी बर्फ की चादर बिछ गई। उत्तराखंड में केदारनाथ, बदरीनाथ, यमुनोत्री, गंगोत्री, हर की दून, हेमकुंड साहिब और यमुनोत्री धाम में भी बारिश के साथ मौसम की पहली बर्फबारी हुई है। चमोली जिले के कई गांव बर्फ से ढंक गए हैं। इससे बुग्यालों पर जाने वाले तीन दर्जन से अधिक पर्यटक लोहाजंग से आगे नहीं जा सके। गैरोली-वैदनी-बगुवावासा-रूपकुंड और आयजन टॉप में भी दो फुट तक बर्फबारी की सूचना है। उत्तरकाशी के यमुनोत्री में आठ से नौ इंच तक की बर्फ गिरी है। जम्मू-कश्मीर में गुलमर्ग समेत ऊंचे पर्वतीय इलाके बर्फ से ढंक गए हैं। जम्मू संभाग के नत्थाटाप, बसंतगढ़, बिलावर, भद्रवाह, किश्तवाड़, सियोजधार, भद्रवाह, बनी के पर्वतीय इलाकों में मौसम की पहली बर्फबारी हुई है। नए साल से पूर्व हुए बर्फबारी से पर्यटकों और स्थानीय लोगों के चेहरे खिल गए हैं। कठुआ के कई पहाड़ी इलाकों में बारिश भी हुई है। कारगिल माइनस 9.9 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ प्रदेश में सबसे ठंडा रहा। इसके बाद माइनस 9.4 डिग्री सेल्सियस के साथ लेह क्षेत्र कड़ाके की ठंड की चपेट में रहा। गुलमर्ग में तापमान माइनस 4.6 और कुपवाड़ा में माइनस 4.5 रहा। श्रीनगर में तापमान माइनस 2.2 डिग्री सेल्सियस रहा। दिल्ली और एनसीआर क्षेत्र रविवार दोपहर तक हल्के कोहरे में ढंका रहा। यहां का न्यूनतम तापमान 11.5 डिग्री दर्ज किया गया लेकिन अधिकतम तापमान 24 डिग्री से लुढ़कते हुए 15.4 डिग्री तक पहुंच गया। पारे की गिरावट और कुहासे के कारण दिल्ली से 103 ट्रेनें लेट चल रही हैं जकि 27 अन्य ट्रेनों के निर्धारित समय में परिवर्तन किया गया है। हालांकि यहां से उड़ान भरने वाले विमानों के परिचालन पर कोई असर नहीं पड़ा।

No comments:

Post a Comment

Pages