शशिकला ने निभाई जयललिता के अतिम संस्कार की रस्में - .

Breaking

Tuesday, 6 December 2016

शशिकला ने निभाई जयललिता के अतिम संस्कार की रस्में

jay
चेन्नई: तमिलनाडु की मुख्यमंत्री और एआईएडीएमके प्रमुख जे जयललिता को मंगलवार को मरीना बीच पर एआईएडीएमके के संस्थापक और जया के मेंटर एमजीआर की समाधि के पास दफना दिया गया। शशिकला ने एक ब्राह्मण पुजारी की मदद से अंतिम अनुष्ठानों को पूरा किया और जयललिता को दफन किया गया।
उन्हें अंतिम संस्कार के लिए राजाजी हॉल से मरीना बीच पूरे राजकीय सम्मान के साथ ले जाया गया था। सोमवार की रात उनका निधन हो गया था। जयललिता के पार्थिव शरीर को जलाया नहीं जाएगा, बल्कि AIADMK के संस्थापक एमजीआर के स्मारक के पास दफनाया जाएगा। एमजीआर को भी दफनाया ही गया था। जयललिता के निधन से पूरा देश सदमे में है। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पीएम मोदी समेत तमाम लोगों ने जयललिता के निधन पर शोक जताया है। पीएम मोदी ने चेन्नई जाकर राजाजी हॉल में जयललिता को श्रद्धांजलि दी। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी जयललिता को श्रद्धांजलि देने के लिए मंगलवार शाम चेन्नई पहुंचे। अम्मा के अंतिम दर्शन करने के बाद वो तुरंत दिल्ली वापस रवाना हो जाएंगे। प्रणब मुखर्जी सुबह चेन्नई के लिए रवाना होने वाले थे लेकिन तकनीकी खराबी के चलते उनका विमान वापस लौटाना पड़ा. थोड़ी देर बाद फिर राष्ट्रपति चेन्नई के लिए रवाना हुए। फिल्म स्टार रजनीकांत ने भी जयललिता को श्रद्धांजलि दी। अंतिम दर्शन के लिए राजाजी हॉल में जयललिता का पार्थिव शरीर रखा गया था। अपने प्रिय नेता के अंतिम दर्शन के लिए बड़ी तादाद में लोग उमड़ पड़े। राजाजी हॉल के बाहर समर्थक बड़ी संख्या में जुटे रहे। बेकाबू भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा। सोमवार रात करीब 11:30 बजे जयललिता ने अंतिम सांस ली। चेन्नई में अम्मा के समर्थकों ने अपोलो हॉस्पिटल के बाहर हंगामा किया, ऐसे में हालात को काबू में करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया। जयललिता के निधन पर केंद्र सरकार ने एक दिन का शोक घोषित किया है वहीं तमिलनाडु में 7 दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है।

No comments:

Post a Comment

Pages