[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

द्वितीय राज्य स्तरीय मुख्यमंत्री कप 2016 का शुभारंभ

sports
भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विद्यार्थियों और खिलाड़ियों का आव्हान किया है कि वे पढ़ाई के साथ-साथ खेलों में भी प्रदेश का नाम रोशन करे। उन्होंने कहा कि गरीब प्रतिभाशाली बच्चों द्वारा बड़े शिक्षण संस्थानों में प्रवेश लेने पर उनकी फीस सरकार भरेगी। इसी प्रकार खेलों में विक्रम पुरस्कार मिलने पर सरकारी नौकरी दी जायेगी।
चौहान भोपाल स्टेडियम में राज्य स्तरीय मुख्यमंत्री कप 2016 का शुभारंभ कर रहे थे। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री कप पिछले वर्ष से आयोजित किया जा रहा है। इस साल यह द्वितीय मुख्यमंत्री कप है। इसमें 10 संभाग से कुल 1200 बालिक-बालिकाएँ भाग ले रहे हैं। मुख्यमंत्री कप 2016 का आयोजन कबड्डी, व्हालीबॉल, एथलेटिक्स, कुश्ती, फुटबॉल एवं कराते खेल में बालक/बालिका वर्ग में किया जा रहा है। राज्य स्तरीय दलीय खेलों में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान अर्जित करने वाले बालक/बालिका दलों को क्रमश: एक लाख, 75 हजार और 50 हजार रूपये नगद पुरस्कार एवं व्यक्तिगत खेलों में क्रमश: 10 हजार, 7 हजार एवं 5 हजार रूपये के नगद पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने प्रतिभागी खिलाड़ियों को उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएँ दी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के खिलाड़ियों में क्षमता है, लगन है और मेहनत करने का जज़्बा है। वे ओलम्पिक में मेडल जीत सकते हैं। सिर्फ कड़ी मेहनत और लगन की जरूरत है। चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री कप के बाद विधायक कप का भी आयोजन किया जायेगा। खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि मुख्यमंत्री कप से ग्रामीण क्षेत्रों की खेल प्रतिभाएँ सामने आई हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की खेल अकादमियों से कई अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी निकले हैं और उन्होंने प्रदेश का नाम रोशन किया है। मुख्यमंत्री कप में भाग लेने के लिये चयनित दलों की संभाग स्तरीय प्रतियोगिताएँ करवाई गई। इनके विजेताओं को राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेने का अवसर मिल रहा है।मुख्यमंत्री ने संभागवार खिलाड़ियों के मार्च पास्ट की सलामी ली। इस अवसर पर सचिव खेल सचिन सिन्हा, संचालक खेल उपेन्द्र जैन और खेल प्रेमी उपस्थित थे।

About Author saloni

i am proffesniol blogger

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search