अश्विन ने मैच में 12 विकेट लेकर अंग्रेजों की कमर तोड़ दी - .

Breaking

Monday, 12 December 2016

अश्विन ने मैच में 12 विकेट लेकर अंग्रेजों की कमर तोड़ दी

mumbai
नई दिल्ली: मुंबई चौथे दिन हार की कगार पर बैठी इंग्लैंड के सबसे सीनियर गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने विराट को लेकर ऐसा बयान दे दिया जिसे लेकर हर तरफ खलबली मच गई। जिमी एंडरसन ने कहा कि भारतीय पिचों पर विराट कोहली की तकनीकि खामियां उजागर नहीं हो पाती हैं। एंडरसन ने कहा कि अगर भारतीय कप्तान की तकनीकी खामियां उजागर नहीं हो रही हैं तो उसका कारण मददगार भारतीय विकेट हैं जिसमें पर गति और मूवमेंट की कमी है। एंडरसन ने साल 2014 में भारत के इंग्लैंड दौरे के समय विराट कोहली को लगातार परेशान किया था। वहां विराट ऑफ स्टंप से बाहर जाती गेंदों पर लगातार आउट हो रहे थे। ऐसे में वर्तमान दौरे में टीम इंडिया के कप्तान विराट ने सीरीज में तकरीबन 700 रन बनाकर इंग्लैंड के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी। इसके साथ ही सीरीज में 3-0 से निर्णायक जीत हासिल कर ली है। जबकि सीरीज का आखिरी मैच 16 दिसंबर से चेन्नई में खेला जाना है। एंडरसन के कटाक्ष का जवाब उन्हें मैच के पांचवें और अंतिम दिन ही मिल गया। पांचवें दिन जब एंडरसन बल्लेबाजी करने उतरे तो रविचंद्रन अश्विन उनके साथ बल्लेबाजी के छोर पर कुछ कहते गए। हालांकि अंपायर ने बीच-बचाव किया लेकिन तब तक अश्विन एंडरसन से अपनी बात कह चुके थे। इसके बाद अश्विन ने ही एंडरसन को उमेश यादव के हाथों कैच कराकर भारत को 3-0 के अंतर से सीरीज में जीत दिला दी। अश्विन ने मैच में कुल 12 विकेट लेकर अंग्रेजों की कमर तोड़ दी। कोहली को लेकर एंडरसन के बयान का विवाद तब शुरू हुआ जब एंडरसन से यह पूछा गया कि क्या विराट की तकनीक में कुछ बदलाव आया है। इसके जवाब में एंडरसन ने कहा कि मुझे सिर्फ इतना लगता है कि उसके अंदर जो तकनीक खामियां हैं वह यहां नजर नहीं आ रही हैं। विकेटों ने इसे समीकरण से बाहर कर दिया है। विकेट में इतनी गति नहीं है कि गेंद बल्ले का किनारा ले जैसा कि हमनें इंग्लैंड में कुछ अधिक मूवमेंट के साथ उसके खिलाफ किया था। एंडरसन ने आगे कहा कि जब पिच पर गति और मूवमेंट नहीं होता है तो वह अच्छा खेलते हैं। ऐसे हालात में खेलने के वह आदी हैं। वह स्पिन के काफी अच्छे खिलाड़ी हैं। बतौर गेंदबाद यदि आप सटीक नहीं हैं और हाथ आए मौकों का फायदा नहीं उठाते तो वह आपके लिए परेशानियां खड़ी करेंगे।

No comments:

Post a Comment

Pages