loc पर शहीद हुए तीन जवानों में से एक के शव को क्षत-विक्षत किया - .

Breaking

Tuesday, 22 November 2016

loc पर शहीद हुए तीन जवानों में से एक के शव को क्षत-विक्षत किया

locनई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पास कुपवाड़ा के माछिल में पाकिस्तानी सेना के कमांडो ने तीन भारतीय जवानों की हत्या कर दी और इनमें से एक के शव को क्षत-विक्षत कर दिया। शहीद हुए जवानों में मनोज कुमार कुशवाहा, प्रभु सिंह और शशांक कुमार सिंह शामिल हैं।
रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर को सह-सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत ने इन हत्याओं के बारे में जानकारी दी।पर्रिकर ने ट्वीट किया, ‘सैनिकों की कायरतापूर्ण और बर्बर हत्या किए जाने तथा एक जवान के शव को क्षत-विक्षत करने की हम भर्त्सना करते हैं. इन बहादुर जवानों के बलिदान को सलाम। 29 अक्टूबर के बाद से भारतीय जवान के शव के साथ बर्बर व्यवहार किए जाने की यह दूसरा घटना है। सेना ने पलटवार करने की बात करते हुए कहा है कि इस कायराना हरकत का मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। माना जाता है कि घुसपैठिये पाकिस्तानी सेना की बॉर्डर एक्शन टीम के सदस्य थे और संभवत: वे बचकर निकल गए। दोपहर के करीब 12 से 1 बजे के आसपास जब भारतीय सैनिक एलओसी पर गश्त लगा रहे थे तो पाकिस्तानी सैनिकों ने पहले सीजफायर का उल्लंघन किया, फिर इसी दौरान फायरिंग की आपाधापी में तीन जवानों की ये टीम अपनी पेट्रोलिंग टीम से बिछड़ गई। घने जंगल का फायदा उठाकर घात लगाकर बैठे पाक बार्डर एक्शन टीम ने इन जवानों पर हमला बोल दिया। हमले में तीन जवान शहीद हो गए. इस इलाके में भारतीय चौकियां पाकिस्तान सीमा के करीब हैं और बीहड़ इलाके तथा घने जंगल होने के कारण घुसपैठियों को फायदा मिल जाता है। पिछले महीने भी इसी इलाके में एक भारतीय जवान के शव के साथ बर्बर व्यवहार किया था। आतंकियों ने सेना के जवान मनदीप सिंह के शव को क्षत-विक्षत कर दिया था और पाकिस्तानी सेना की फायरिंग की आड़ में वे पाक अधिकृत कश्मीर में वापस घुस गए थे। सितंबर में जब नियंत्रण रेखा के पार भारतीय सेना ने आतंकियों के लांचिंग पैड्स पर सर्जिकल स्ट्राइक की थी, तब से पाकिस्तान की तरफ से बार-बार की जा रही फायरिंग में अब तक 17 भारतीय जवान शहीद हो चुके हैं। पाकिस्तान की तरफ से अब तक 130 से ज्यादा बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया जा चुका है। पिछले हफ्ते पाकिस्तान ने कबूल किया किया था कि सीमा पर भारतीय सेना की फायरिंग में उसके सात जवान मारे गए थे। उस वक्त पाकिस्तान ने कहा था कि उसकी सेना इसका जवाब देगी। समझा जाता है कि पाकिस्तान ने उसी के जवाब में इस कायराना हरकत को अंजाम दिया है।

No comments:

Post a Comment

Pages