रीवा नगर निगम को राष्ट्रपति ने दिया वयोश्रेष्ठ सम्मान - .

Breaking

Wednesday, 9 November 2016

रीवा नगर निगम को राष्ट्रपति ने दिया वयोश्रेष्ठ सम्मान

rewa
भोपाल: राष्ट्रपति ने रीवा नगर निगम को सर्वश्रेष्ठ शहरी स्थानीय निकाय के रूप में “वयोश्रेष्ठ सम्मान 2016” से सम्मानित किया। वृद्धजनों, दिव्यांगों और कमजोर लोगों के हितों के संरक्षण के लिये ‘प्रोजेक्ट जनसंवाद’ के लिए यह सम्मान प्रदान किया गया।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को गत दिवस नगरीय विकास मंत्री माया सिंह ने सम्मान ट्राफी भेंट की। मुख्यमंत्री ने रीवा नगर निगम आयुक्त रीवा कर्मवीर शर्मा और उनकी टीम को बधाई और शुभकामनाएँ दी। केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा हाल में दिल्ली में आयोजित एक भव्य समारोह में कर्मवीर शर्मा को राष्ट्रपति ने सम्मानित किया। रीवा नगर निगम को 10 लाख रु. की राशि प्रदान की गई। इस प्रोजेक्ट के माध्यम से रीवा नगर निगम ने वार्ड वार जनसंवाद शिविर लगाकर तत्काल बुजुर्ग लोगों की समस्याओं का समाधान किया। वृद्धजनों के गरिमामय जीवन के लिये उन्हें कोर बैंकिंग से जोड़ा गया। उनका आधार कार्ड बनवाया गया और वित्तीय समावेशन किया गया। वार्डवार स्वास्थ्य परीक्षण एवं जन-कल्याण शिविर लगाये गये। इनके माध्यम से बुजुर्ग लोगों, दिव्यांगों और आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित किया गया। नगर निगम आयुक्त कर्मवीर शर्मा के नेतृत्व में अधिकारियों के संवाद दल बनाये गये। आयुक्त और महापौर ने वरिष्ठ लोगों से संवाद करना शुरू किया और पारिवारिक, सामाजिक और आर्थिक परेशानियों को सूचीबद्ध किया। वरिष्ठजनों का पूरा डेटा बेस तैयार किया गया। वरिष्ठजन कल्याण और विकास समितियाँ बनाई गईं। पाषदों को इससे जोड़ा गया। डे-केयर सेंटर बनाये गये। इनमें बुजुर्ग लोगों की देखभाल के विशेष इंतजाम किये गये। उनकी परेशानियों के समाधान के लिये विशेष प्रकोष्ठ बनाये गये। जिन वृद्धजनों की देखभाल करने के लिये परिवार में कोई नहीं है उनके लिये विशेष रैन बसेरा बनाये गये। इनमें उनकी देखभाल की सभी व्यवस्थाएँ हैं। वरिष्ठ नागरिकों के कानूनी अधिकारों के बारे में सामान्य लोगों को सूचित और शिक्षित करने के लिये विशेष जागरूकता केंप लगाये गये। इसके अलावा दिव्यांगों की मदद के लिये भी कल्याण शिविर लगाये गए। वरिष्ठजनों के कल्याण और उनकी मदद के लिये शुरू किए गए प्रयास निरंतर जारी हैं और इनमें नये-नये आयाम जुड़ रहे हैं

No comments:

Post a Comment

Pages