[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

राजकोट में भारत और इंग्लैंड बीच आज से शुरू हो रही टेस्ट क्रिकेट सीरीज

team
राजकोट: वेस्टइंडीज और न्यूजीलैंड के खिलाफ लगातार दो सीरीज में जीत के साथ आत्मविश्वास से भरी दुनिया की नंबर एक भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ आज से यहां शुरू हो रही पांच मैचों की टेस्ट क्रिकेट सीरीज में प्रबल दावेदार के रूप में शुरुआत करेगी। यह सीरीज पिछले तीन दशक में भारतीय सरजमीं पर पांच टेस्ट की पहली सीरीज होगी और पहले टेस्ट के साथ टेस्ट केंद्र के रूप में राजकोट का पदार्पण होगा।
दुनिया की नंबर एक टीम भारत और पिछली बार उसे चार साल पहले घरेलू सरजमीं पर हराने वाले इंग्लैंड के बीच कड़ा मुकाबला होने की उम्मीद है। इंग्लैंड ने 2012 में पहला मैच गंवाने के बाद वापसी करते हुए चार टेस्ट की सीरीज 2-1 से जीती थी। इंग्लैंड की जीत में तब ग्रीम स्वान और मोंटी पनेसर की बेहतर स्पिन जोड़ी ने अहम भूमिका निभाई थी लेकिन इस दौरे पर दोनों ही टीम का हिस्सा नहीं हैं। मौजूदा कप्तान एलिस्टेयर कुक और विवादास्पद बल्लेबाज केविन पीटरसन ने तब शानदार बल्लेबाजी की थी लेकिन पीटरसन अब इंग्लैंड टीम का हिस्सा नहीं हैं। भारत के मौजूदा टेस्ट कप्तान विराट कोहली चार साल पहले इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सरजमीं पर और फिर इंग्लैंड में पांच मैचों की सीरीज में 3-1 से शिकस्त झेलने वाली टीम इंडिया का हिस्सा थे और उन्होंने इन दोनों सीरीज के दौरान मिले कड़े सबक को भुलाया नहीं होगा। इंग्लैंड की टीम हालांकि इस बार यहां बांग्लादेश में दो टेस्ट की सीरीज 1-1 से बराबर करके आई है जहां उसे मेजबान टीम के खिलाफ पहली बार टेस्ट मैच में शिकस्त का सामना भी करना पड़ा। इसके अलावा लगभग एक हफ्ते पहले भारत पहुंचने वाले इंग्लैंड ने दौरे पर कोई अ5यास मैच नहीं खेला है। टीम के सबसे सफल टेस्ट गेंदबाज जेम्स एंडरसन भी कंधे की चोट से पूरी तरह नहीं उबरे हैं और कम से कम पहले टेस्ट में नहीं खेल पाएंगे। कुक और अपना 100वां टेस्ट खेलने वाले आलराउंडर स्टुअर्ट ब्राड दोनों ने कहा है कि आक्रामक शैली में अगुआई करने वाले कोहली की कप्तानी में खेलने वाली भारतीय टीम के खिलाफ वे ‘अंडरडाग’ के रूप में शुरुआत करेंगे। कोहली की नजरें भी इंग्लैंड के खिलाफ बल्ले से अपने खराब रिकार्ड में सुधार करने पर टिकी होंगी। भारतीय टीम का हालांकि इंग्लैंड को लेकर चिंतित होना लाजमी है। कोच अनिल कुंबले चाहते हैं कि टीम रणनीति को उसी तरह अमलीजामा पहनाए जैसा उन्होंने पिछली सीरीज में न्यूजीलैंड के खिलाफ 3-0 की जीत के दौरान किया था। उप कप्तान अजिंक्य रहाणे ने भी कल कुछ नए चेहरों वाली इंग्लैंड की टीम के खिलाफ आत्ममुग्धता के खतरों के प्रति चेताया था। यह भारत में पहली टेस्ट सीरीज होगी जिसमें अंपायरों के फैसले की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) का इस्तेमाल किया जाएगा जिसका बीसीसीआई अब तक विरोध करता रहा है। आठ साल पहले श्रीलंका में एकमात्र सीरीज में डीआरएस की मौजूदगी में खेलने वाला भारत इस प्रणाली को लेकर रणनीति बना रहा है। कोलकाता में 2012 में इंग्लैंड के खिलाफ शिकस्त के बाद से भारत घरेलू मैदान पर 14 टेस्ट में अजेय रहा है। लोकेश राहुल, शिखर धवन और रोहित शर्मा के चोटिल होने के बावजूद भारत का बल्लेबाजी क्रम मजबूत है।

About Author saloni

i am proffesniol blogger

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search