नड्डा और शिवराज ने किया जबलपुर में सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक का शिलान्यास - .

Breaking

Saturday, 5 November 2016

नड्डा और शिवराज ने किया जबलपुर में सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक का शिलान्यास

cm
भोपाल: केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जगत प्रकाश नड्डा ने कहा है कि मप्र सरकार की ईमानदार कोशिशों के चलते प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने की दिशा में सराहनीय प्रगति हुई है। राष्ट्रीय पैमाने पर भी प्रदेश की स्थिति में सुखद बदलाव आया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं की बेहतरी के लिए सभी जरूरी कदम उठाए हैं। सरकार निर्धन तबके के लोगों तक स्वास्थ्य सुविधाएँ पहुँचाने के लिए प्रयत्नशील है। नड्डा और चौहान जबलपुर में मेडिकल कॉलेज में प्रस्तावित सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक के शिलान्यास कार्यक्रम में बोल रहे थे।
केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि 150 करोड़ की लागत से तैयार होने वाला यह ब्लॉक आम लोगों को उच्च स्तरीय चिकित्सा मुहैया करवाने में मददगार होगा। नड्डा ने विभिन्न स्वास्थ्य सूचकांकों को बेहतर बनाने में प्रदेश के योगदान को रेखांकित किया। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने जबलपुर में 120 करोड़ रूपए लागत से स्टेट कैंसर इंस्टीटयूट की स्थापना और एक ट्रामा यूनिट की भी घोषणा की। साथ ही एक सीजीएचएस डिस्पेंसरी की घोषणा की। नड्डा ने अमृत कार्यक्रम का उल्लेख करते हुए कहा कि 2000 प्रकार की दवाइयाँ एमआरपी से 60 से 90 फीसदी कम दामों में उपलब्ध करवाई जा रही है। स्थान उपलब्ध करवाने पर इस योजना में मप्र में रिटेल स्टोर खोले जाएंगे। उन्होंने भरोसा दिलाया कि स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार और स्वास्थ्य सुविधाओं की बेहतरी के लिए राज्य सरकार के प्रयासों में हर जरूरी मदद दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री की घोषणाओं पर आभार जताया। चौहान ने कहा कि सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक के तैयार होने से जबलपुर और निकटवर्ती जिलों के लोगों को इलाज के लिए बाहर जाने की मजबूरी से निजात मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि किसी भी सरकार के लिए अपनी जनता को बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएँ उपलब्ध करवाना सबसे बड़ा दायित्व है। उन्होंने कहा कि राज्य बीमारी सहायता योजना में दो लाख रूपए तक के अधिकार कलेक्टरों को सौंपे गए हैं। हमारा प्रयास है कि किसी भी व्यक्ति को आर्थिक विपन्नता के चलते इलाज से वंचित न रहना पड़े। मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान की राशि दो से बढ़ाकर सौ करोड़ की गई है जिससे जरूरी होने पर निजी अस्पतालों में भी बीमार का इलाज सुनिश्चित किया जा सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना में बच्चों के हृदय रोग के उपचार के कदम उठाए गए हैं। उन्होंने थैलीसीमिया रोग से ग्रस्त बच्चों के बोनमैरो ट्रांसप्लान्ट के लिए नई योजना पर विचार का भी जिक्र किया। केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने कहा कि ब्लॉक के तैयार होने से जबलपुर सहित पूरे महाकौशल के लोगों के लिए उत्कृष्ट चिकित्सा सुविधाएँ उपलब्ध होंगी। उन्होंने कहा कि निर्धन तबके के बीमार लोगों तक स्वास्थ्य सुविधाएँ पहुँचाने की दिशा में केन्द्र और मप्र सरकार ने महत्वपूर्ण पहल की है। प्रदेश के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री रूस्तम सिंह ने कहा कि ब्लॉक के तैयार होने से सात बीमारियों के इलाज के लिए स्पेशियलिटी उपलब्ध होगी। चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) शरद जैन ने कहा कि डेढ़ सौ करोड़ की लागत वाले इस ब्लॉक के तैयार होने से बड़ी संख्या में नागरिक लाभान्वित हो सकेंगे। सांसद राकेश सिंह ने भी संबोधित किया। प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के संयुक्त सचिव सुनील शर्मा ने कहा कि सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक का कार्य दिसम्बर 2017 तक पूरा कर लिया जाएगा। ब्लॉक में 206 बेड रहेंगे। इसमें 7 महत्वपूर्ण विभाग को सम्मिलित किया गया है। अस्पताल भवन में 6 आपरेशन थियेटर, 30 आईसीयू बेड, 8 प्राइवेट रूम तथा 18 डायलिसिस बेड भी उपलब्ध होंगे। मुख्यमंत्री एवं केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने मुख्यमंत्री बाल ह्मदय उपचार योजना में हृदय रोगी बच्चों के इलाज के लिए कार्य-आदेश भी प्रदान किए।

No comments:

Post a Comment

Pages