[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

नोटबंदी पर जनता हमारे साथ, सरकार नहीं करेगी सरेंडर: मोदी

pm
नई दिल्ली: संसद के आगामी शीत सत्र में नोटबंदी के मसले पर विपक्ष के आक्रामक रुख अपनाने की तैयारी के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को अपनी पार्टी बीजेपी के शीर्ष नेताओं से कहा कि इस फैसले पर देश सरकार के साथ है।
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, वरिष्ठ केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली और राजनाथ सिंह तथा पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी इस बैठक में शामिल थे। पीएम मोदी ने कहा कि बुधवार से शुरू हो रहे संसद सत्र में सरकार को इस मुद्दे पर कोई रक्षात्मक रवैया अपनाने की जरूरत नहीं है। सूत्रों ने बताया कि बीजेपी ने नोटबंदी के फैसले को वापस लेने की संभावना को सिरे से खारिज किया और कहा कि संसद में वह विपक्ष को पुरजोर तरीके से जवाब देगी। सूत्रों ने यह भी कहा कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी नेताओं से कहा कि वे नोटबंदी, सितंबर में की गई सेना की सर्जिकल स्ट्राइक और पूर्व सैनिकों के लिए ‘वन रैंक, वन पेंशन’ जैसे मुद्दों पर विपक्ष के हमलों का जवाब देने की तैयारी करें। यह बैठक संसद में लगभग उसी वक्त हुई, जब विपक्ष भी सत्ता पक्ष को घेरने की रणनीति पर चर्चा के लिए जुटे थे। बीजेपी के सहयोगी दलों ने भी सरकार के नोटबंदी के निर्णय का मजबूती से समर्थन किया है। एनडीए के घटक दलों ने 16 नवंबर से शुरू होने वाले संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान विपक्ष से मुकाबले के लिए तैयारी की। सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू ने बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि उच्च मूल्य के नोट को अमान्य करने के निर्णय पर कोई पुनर्विचार नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ सरकार की लड़ाई को उसके तार्किक अंत तक पहुंचाया जाएगा। एनडीए के घटक दलों ने यह भी निर्णय किया कि वे उच्च मूल्य के नोट को अमान्य करने के सरकार के निर्णय की आलोचना करने वाली विपक्षी पार्टियों से उनके प्रत्येक आरोप का जवाब देकर मुकाबला करेंगे। पार्टियों ने यह भी निर्णय किया कि वे बचाव की मुद्रा नहीं अपनाएंगी, क्योंकि लोगों ने इस कदम का समर्थन किया है और वे असुविधा का सामना करने के लिए तैयार हैं। एनडीए के सहयोगी दलों ने पीएम मोदी की प्रशंसा की और नोट को अमान्य करने और गत सितंबर में नियंत्रण रेखा के पार की गई सर्जिकल स्ट्राइक के लिए सरकार की प्रशंसा की। रविवार को गोवा में पीएम मोदी ने कहा था कि देश की भलाई के लिए जनता कष्ट सहने को तैयार है। बैंककर्मी पिछले एक हफ्ते से दिनरात काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 30 दिसंबर तक जनता मौका दे। उसके बाद मेरी गलती निकली तो हर सजा के लिए तैयार हूं। पीएम मोदी ने कहा कि ये लड़ाई ईमानदार लोगों का भरोसा जीतने के लिए है. ये तकलीफ सिर्फ 50 दिनों के लिए है।

About Author saloni

i am proffesniol blogger

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search