[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

नर्मदा सेवा यात्रा 11 दिसंबर को अमरकंटक से शुरू करेगे सीएम

cm
भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि नर्मदा सेवा यात्रा माँ नर्मदा को प्रदूषणमुक्त रखने की आस्था का अवसर है। इसमें व्यापक जन-भागीदारी के लिए जन-जागरण के प्रभावी प्रयास किए जाएँ। चौहान नर्मदा सेवा यात्रा की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर मुख्य सचिव बीपी सिंह भी मौजूद थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्री जिस दिन जिस गाँव में पहुँचेंगे, उसकी तिथियों का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये। दीवार लेखन के माध्यम से इस संबंध में जानकारी प्रसारित की जाये। उन्होंने यात्रा के स्वागत और जन-जागरण के लिए ग्राम स्तर पर नर्मदा सेवा समितियों के गठन की जरूरत बताई। उन्होंने कहा कि इन समितियों में क्षेत्र के सभी गणमान्य व्यक्तियों को शामिल किया जाए। उन्होंने नर्मदा सेवा यात्रा में जन-भागीदारी के महत्व को प्रतिपादित करते हुए कहा कि जो नागरिक यात्रा में आर्थिक सहयोग करना चाहते हैं, उनको भी भागीदारी का अवसर दिया जाए । उन्होंने इसके लिए एक कोष की स्थापना का सुझाव दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि यात्रा का शुभारंभ कार्यक्रम धूमधाम के साथ किया जाए। एक गाँव के लोग यात्रा को दूसरे गाँव तक छोड़ने जाये। इसी तरह जिले की सीमा के प्रारंभ से अंत तक भी सेवा यात्रियों के समूह भी गठित किया जायें। उन्होंने कहा कि यात्रा का कार्यक्रम इस तरह तैयार किया जाए कि वह वर्षा ऋतु से पहले पूरी हो जाए। बताया गया कि नर्मदा सेवा यात्रा 11 दिसंबर को अमरकंटक से शुरू होगी। यात्रा में शामिल होने के लिए अभी तक वेबसाइट के माध्यम से 11 हजार 834 प्रतिभागियों ने पंजीयन करवाया है। यात्रा की तैयारियों के संबंध में समाजसेवी संस्थाओं, जन-प्रतिनिधियों और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ चर्चा भी की गई है। मुख्यमंत्री ने मंत्रालय में ग्यारह वर्ष जन-कल्याण के अभियान की रूपरेखा पर भी अधिकारियों से चर्चा की। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि अभियान के दौरान थीम निर्धारित कर कार्यक्रम किए जाए। प्रयास करें कि कार्यक्रमों का संयोजन, इस प्रकार से हो कि प्रदेश के हर संभाग अंतर्गत एक विशाल सम्मेलन हो। चौहान ने कहा कि सरकार द्वारा 11 वर्ष की अवधि में जन-कल्याण के लिए किए गए कार्यों की जानकारी दी जाये। साथ ही शासन की विभिन्न योजनाओं और उनसे संबंधित पात्र हितग्राहियों को लाभांवित करने के कार्यक्रम भी किये जायें। उन्होंने कहा कि सरकार की उपलब्धियों को सरल तरीके से सहज भाषा में बताया जाए, ताकि अन्य लोग उसे समझ कर लाभान्वित होने के लिए आगे बढ़कर आयें। शासन की योजनाओं से लाभान्वित होने को प्रेरित हों। बैठक में बताया गया कि अभियान के दौरान कार्यक्रमों का निर्धारण किया गया है। रीवा संभाग में युवा सम्मेलन, सागर संभाग में श्रमिक सम्मेलन, उज्जैन संभाग में किसान सम्मेलन, चंबल संभाग में महिला सशक्तिकरण सम्मेलन, जबलपुर संभाग में स्व-सहायता समूहों का सम्मेलन और इंदौर संभाग में अनुसूचित जनजाति सम्मेलन के आयोजन की रूपरेखा पर चर्चा की गई। बैठक में अपर मुख्य सचिव दीपक खांडेकर, इकबाल सिंह बैस और राधेश्याम जुलानिया, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अशोक वर्णवाल और एसके मिश्रा, आयुक्त जनसंपर्क अनुपम राजन, मुख्यमंत्री के सचिव विवेक अग्रवाल और हरिरंजन राव, मुख्यमंत्री के ओएसडी आदर्श कटियार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

About Author saloni

i am proffesniol blogger

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search